मिथिला महोत्सव में गायक-गायिकाओं ने अपने गायकी से लोगों को मंत्र मुग्ध किया, प्रशिद्ध गायकों को किया गया सम्मानित

0

न्यूज़ डेस्क।
दरभंगा।

मिथिला संस्कृति मंच लहेरियासराय के तत्वावधान में आयोजित मिथिला महोत्सव के दुसरे दिन तीसरे सत्र का उद्घाटन एस.एम. झा ने किया, और अध्यक्षता मैथिली अकादमी के पूर्व अध्यक्ष कमलाकान्त झा ने किया। सत्र का संचालन प्रदीप झा ने किया और सत्र को निरंतर गति प्रदान किया। सत्र के शुरूआत मौनी बाबा के द्वारा मंगलाचरण से हुआ। गोसाओनिक गीत ममता ठाकुर व स्वागत गीत सुषमा झा ने गाया। स्वागत भाषण आलोक कुमार टिंकु ने दिया। महासचिव प्रतिवेदन संस्था के महासचिव उदयशंकर मिश्र ने किया। इस सत्र मे हित नारायण झा सम्मान मरणोपरांत भोला लाल दास को दिया गया। जिसे ग्रहण किया भोला लाल दास की पुत्र वधु ने। सम्मान मे एक रजत पदक व पच्चीस हजार नगद दिया गया। दुसरा सम्मान आज का प्रसिद्ध गायक जोड़ी रामबाबु व भगवान बाबु झा को मिथिला भूषण सम्मान देकर किया गया। इस सत्र में मुख्य अतिथि के रूप मे मौनी बाबा उपस्थित थे। विशिष्ट अतिथि योगानन्द झा व रामनारायण झा उपस्थित थे। मंच की शोभा बढ़ाते रहे थे प्रसिद्ध गीतकार चन्द्रमणि झा। सांस्कृतिक सजे इस सत्र मे विभिन्न गायक गायिकाओं ने अपने गायकी से लोगों को मंत्र मुग्ध कर दिया। रामबाबु झा, भगवान बाबु झा, माधव राय, जुली झा, रचना झा, सुषमा झा, ममता ठाकुर, भाई राधे, नीतु झा, संजीत, गोपाल, पिंटु, अक्षत, सुशांत इत्यादि दर्जनों कलाकारों ने अपनी गायकी वादकी से श्रोताओं को मंत्र मुग्ध कर दिया और उनका मनोरंजन किया गया। कार्यक्रम देर रात्रि तक चलता रहा गीत संगीत के सागर मे दर्शक गोता लगाते रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here