सांसद का प्रयास लाया रंग, 100 किमी नई रेल लाइन के सर्वे कार्य को मिली हरी झंडी।

0

मोदी सरकार का एक और तोहफा, लहेरियासराय – सहरसा नई रेल लाइन के सर्वे कार्य को मिली मंजूरी – सांसद

सांसद का प्रयास लाया रंग, 100 किमी नई रेल लाइन के सर्वे कार्य को मिली हरी झंडी।

केंद्र की मोदी सरकार द्वारा मिथिला के केंद्र दरभंगा में एम्स, एयरपोर्ट, आईटी पार्क, तारामंडल, बिहार का प्रथम एक्सप्रेस वे सड़क,रिंग रोड, विश्वस्तरीय रेलवे स्टेशन, कई आरओबी देने के बाद एक और विकासात्मक परियोजना का दिया तोहफा उक्त बातें रेल संबंधी स्थायी समिति एवं रेल मंत्रालय की परामर्शदात्री समिति के सदस्य सह दरभंगा सांसद डॉ गोपाल जी ठाकुर ने 2.5 करोड़ की लागत से 800मीटर लंबे एवं 7.50मीटर चौड़े पंडासराय गुमती से लहेरियासराय माल गोदाम के बीच सड़क शिलान्यास के दौरान कही। उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के प्रति विशेष आभार प्रकट करते हुए कहा कि उन्होंने दरभंगा सहित संपूर्ण मिथिला के विकास के प्रति काफी गंभीर है।

सांसद डॉ ठाकुर ने कहा कि आज दरभंगावासियों के लिए ऐतिहासिक दिन है। उनके सालों की अथक परिश्रम के पश्चात लगभग 100 किमी लंबे लहेरियासराय – जमालपुर मुसहरिया – सहरसा (वाया- देकुली- उघरा- खैरा- बिठौली- शंकररोहार- हावीडीह- सज्जनपुरा- कन्हौली-
मलौल-कहूआ- जगदीशपुर– शिवनगरघाट– कोर्थू– कसरौर– पुनहद– घनश्यामपुर- लगमा- रसियारी-किरतपुर- तरवारा- जमालपुर- मुसहरिया- महिषी तारास्थान- बनगाँव) नई रेल लाईन के निर्माण हेतु सर्वे कार्य को रेल मंत्रालय द्वारा स्वीकृति दे दी गई और अगले महीने से सर्वे कार्य प्रारंभ होगा। उन्होंने कहा कि आजादी के 75साल बाद भी यह पूरा क्षेत्र रेल कनेक्टिविटी से अछूता था। इस रेल लाइन निर्माण के बाद इस क्षेत्र के लोगों की दिशा व दशा दोनो बदल जाएगी और लोगों की आर्थिक उन्नति काफी तेज गति से होगा। उन्होंने कहा कि वह सांसद बनने के बाद प्रथम दिन से ही इस नई रेल निर्माण की दिशा में प्रयासरत थे। सांसद ने कहा कि इस विषय को लेकर वह बीते सप्ताह भी केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव जी से मुलाकात कर इसके स्वीकृति हेतु आग्रह किए थे। इस ऐतिहासिक कार्य के लिए उन्होंने रेल मंत्री को बधाई दिए।

सांसद डॉ ठाकुर ने कहा कि इसी सप्ताह में 300 करोड़ की लागत से मोदी सरकार द्वारा स्वीकृत दरभंगा रेलवे स्टेशन को विश्वस्तरीय स्टेशन बनाने हेतु आरएलडीए एवं रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी द्वारा सर्वे सहित अन्य कार्यों को पूरा किया गया है और आज इस सड़क का शिलान्यास किया गया है। एक के बाद एक नई विकासात्मक परियोजना को स्वीकृति मोदी सरकार के निरंतर विकास को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि समपार फाटक संख्या -21 लहेरियासराय चट्टी गुमती तथा पंडासराय गुमती पर हाल में ओवरब्रिज निर्माण को स्वीकृति प्रदान की जा चुकी है, वहीं लगभग साढ़े पांच करोड़ की लागत से लहेरियासराय में लो कॉस्ट ओवरब्रिज निर्माण को भी रेलवे द्वारा स्वीकृति मिल चुकी है। भाजपा सांसद ने कहा कि 15 करोड़ की लागत से लहेरियासराय स्टेशन का कायाकल्प हो रहा है, जिसमे 3.5 करोड़ की लागत से फुट ओवरब्रिज, 2.46 करोड़ की लागत से स्टेशन नवीनीकरण सहित अन्य कार्य शामिल है।

उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए सांसद डॉ ठाकुर ने कहा कि मोदी सरकार के कार्यकाल में मिथिला सहित दरभंगा में विकास परियोजना की गंगा बह रही रही है जिसमे कोसी रेल महासेतु-516 करोड़,एम्स दरभंगा – 1264 करोड़, आईटी पार्क-10 करोड़, तारामंडल-164 करोड़,आमस दरभंगा एक्सप्रेस वे – 7500 करोड़,आधा दर्जन आरओबी – 350 करोड़ से अधिक, दरभंगा समस्तीपुर रेल दोहरीकरण एवं विद्युतीकरण-519 करोड़, काकरघाटी शिशो बाईपास रेललाईन-298 करोड़, लहेरियासराय रोसड़ा एनएच 500 करोड़, उच्चैठ महिषी तारापीठ के बीच देश के सबसे लंबे सड़क पुल के निर्माण हेतु 3000 करोड़ सहित मखाना के विकास हेतु 10 हजार करोड़ प्रमुख परियोजना है और दर्जनों नई परियोजना आने वाले दिनों में स्वीकृत की जाएगी। उन्होंने कहा कि इन सभी परियोजना के पूर्ण होने के बाद विकास के मामले में मिथिला देश में अग्रणी पंक्ति में खड़ा हो जायेगा।

कार्यक्रम के दौरान एडीआरएम जितेंद्र सिंह, सीनियर डीसीएम आरएन झा,सीनियर डीसीएम विनोद गुप्ता, सीनियर डीसीएम चंद्रशेखर प्रसाद, सीनियर डीओएम डॉ निलेश कुमार, एडीईएन विजय शंकर ,जीवछ सहनी,सुजीत मल्लिक,संजीव साह,बालेन्दु झा बालाजी,उमेश चौधरी, कृष्ण भगवान झा,प्रेम कुमार मिश्रा,तनवीर हसन, अश्वनी यादव,सीता राम मांझी, शिवशंकर सिंह,कन्हैया चौधरी, कन्हैया पासवान,नवीन चौधरी,मुकुंद चौधरी,देवेन्द्र झा,सुनील चौधरी,माधव आजाद, प्रभाकर ठाकुर,सरिता देवी,प्रदीप गुप्ता, ध्रुव मंडल, पप्पू महासेठ, विमल झा, रुद्रा चौधरी सहित सैकड़ों लोग उपस्थित रहें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here