15 सूत्री मांग को लेकर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का अनिश्चित कालीन हड़ताल जारी…

0

सोमू कर्ण।
दरभंगा/हायाघाट।

बिहार राज्य आंगनबाड़ी संयुक्त संघर्ष मोर्चा द्वारा अनिश्चित कालीन हड़ताल एवं आंगनवाड़ी केंद्रों पर तालाबंदी 5 दिसम्बर से जारी है। बता दूं कि 15 सूत्री मांगों को लेकर बिहार राज्य आंगनबाड़ी संयुक्त संघर्ष मोर्चा के तत्वावधान में 5 दिसम्बर से अनिश्चित कालीन हड़ताल को सफल बनाने हेतु हायाघाट प्रखंड स्थित बाल विकास परियोजना कार्यालय के समक्ष आंगनबाड़ी सेविका-सहायिकाओं का एकदिवसीय धरना का आयोजन किया गया, जिसका नेतृत्व आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका संघ के जिला मंत्री शाहीन प्रवीण एवं हायाघाट प्रखड के आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका संघ की प्रखंड अध्यक्ष धर्मशीला देवी ने अध्यक्षता की। जिसमे सभा को संबोधित करते हुए बिहार राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के जिलामंत्री फूल कुमार झा ने कहा कि राज्य सरकार एवं केंद्र सरकार आंगनबाड़ी सेविकाओं के साथ गलत नीति अपना रही है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सरकार न्यूनतम मजदूरी भी नही दे रही है, और सरकार महिला शशक्तिकरण की ढिंढोरा पिट रही है। जबकि सीआईटीयू के राज्य मंत्री सत्यप्रकाश चौधरी ने कहां की अंतरराष्ट्रीय संगठन में केंद्र सरकार द्वारा न्यूनतम मजदूरी 18000 रुपया देने के वादे से मुकर रही है, जिसे प्राप्त करने के लिए सभी कार्यकर्ताओं का सत प्रतिशत सफल बनाने का आवाह्न किया। आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका संघ के विधि सलाहकार अमर चन्द्र लाल ने राज्य सरकार से आंगनबाड़ी सेविका सहायिकाओं को ईएसआइ एवं पीएफ(भविष्य निधि) योजनाओं में शामिल करने एवं वित्तीय वर्ष 2016-17 की बकाये 4 माह एवं पिछले 54 दिनों के हड़ताल अवधि की मानदेय भुगतान करने मांग किया, साथ हीं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के अवकाश प्राप्त करने के बाद तीन से पांच हजार तक प्रति महीना पेंशन देने की मांग की। जिसके बाद उन्होंने सेविका-सहायिकाओं के मनोबल को मजबूत करते हुए चट्टानी एकता के साथ हड़ताल पर डटे रहने का आवाह्न किया। धरना में सैकड़ों आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मौजूद थें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here