17 जून : मधुबनी की प्रमुख खबरें

0

स्पेशल ड्राइव में लक्ष्य से भी अधिक हुआ टीकाकरण

मधुबनी : स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने राज्य के लिए एक करोड़ लोगों को प्रति महीने टीकाकरण करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। जिसके तहत टीकाकरण को बढ़ावा देने की हर स्तर पर कोशिश की जा रही है। इसी कड़ी में जिले में बुधवार को कोविड-19 टीकाकरण के लिए मेगा ड्राइव अभियान चलाया गया। जिसमें शिविर के लिए निर्धारित लक्ष्य तय किया गया था। टीकाकरण के लिए सभी सत्र स्थल पर लोगों का काफी उत्साह देखा गया। उत्साह का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है। कि निर्धारित लक्ष्य से 8% अधिक टीकाकरण हुआ। लक्ष्य 31,400 के विरुद्ध 33,812 लोगों का टीकाकरण किया गया।

मेगा शिविर की महत्ता के लिए स्वास्थ्य महकमे की ओर से पुख्ता इंतजाम किए गए थे। युवा टीकाकरण के लिए ऑनलाइन स्लॉट बुक कर वे विभिन्न केंद्रों पर अपनी बारी का इंतजार कतार में खड़े दिखे, वहीं ऑनस्पॉट भी रजिस्ट्रेशन कर 18 वर्ष से ऊपर सभी लोगों को टीकाकरण किया गया।

मेगा शिविर में 31000 हजार से अधिक युवाओं ने टीकाकरण करवाया। वहीं, टीकाकरण के सफल संचालन के लिए सहित कई सहयोगी संस्थाओं का सराहनीय प्रयास से लक्ष्य अधिक टीकाकरण हुआ। अगर इसी तरह से आगे भी ड्राइव चलाकर टीकाकरण होता रहे रहा तो स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने राज्य के लिए एक करोड़ लोगों को प्रति महीने टीकाकरण करने का टीकाकरण का जो लक्ष्य निर्धारित किया है,। उसे आगामी दिनों में प्राप्त करने में देर नहीं लगेगी।

टीकाकरण प्रखंड वार प्रतिशत में :

जिले के सदर सहित सभी प्रखंडों में टीकाकरण का विशेष अभियान चलाया गया। जिसमें लक्ष्य अधिक 107.7%% हुआ। जिसमे पंडोल 210%, राजनगर 190%, झंझारपुर 134%, लखनौर 125%, कलुआही 123%, रहिका 120%, खजौली 115%, फुलपरास 117%, बिस्फी 111%, अंधराठाढ़ी 110%, मधेपुर 110%, मधुबनी 108%, घोघरडीहा 108% मधवापुर 107%, खुटौना 105%, हरलाखी 102%, बासोपट्टी 101%, जयनगर 99%, बेनीपट्टी 99%, बाबूबरही 98%, लौकही 97%, लदनिया 94% हुआ।

निर्धारित लक्ष्य 31400 के सापेक्ष 33,812 लोगों को टीकाकरण किया गया :

जिले में टीकाकरण के स्पेशल ड्राइव के तहत कुल 262 सत्र स्थल बनाए गए थे। प्रत्येक सत्र स्थल पर 120 लोगों को टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा गया था। निर्धारित लक्ष्य 31,400 के सापेक्ष 33,812 लोगों को टीकाकरण किया गया। जो लक्ष्य से 7.7% अधिक था। जिसमें 18 से 44 वर्ष के 31,045 युवाओं का टीकाकरण 45 से 59 वर्ष के 2,124 लोगों को प्रथम डोज तथा 58 लोगों को दूसरा डोज दिया गया. वहीं 45 से 59 वर्ष के 549 लोगों को प्रथम डोज तथा 29 लोगों को दूसरा डोज दिया गया, 2 फ्रंटलाइन वर्कर को प्रथम डोज तथा 3 फ्रंटलाइन वर्कर को दूसरा डोज दिया गया. वही दो स्वास्थ्य कर्मियों को दूसरी डोज दी गई।

सैलून संचालक का प्राथमिकता के आधार पर होगा टीकाकरण :

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. एसके विश्वकर्मा ने बताया कि जिले में सैलून चलाने वाले लोगों का प्राथमिकता के आधार पर कोविड-19 का टीकाकरण किया जाएगा उन्होंने बताया कि टीकाकरण के लिए नाई संघ तथा ब्यूटी पार्लर संचालक से संपर्क किया जाएगा। बाल बनाने वाले तथा सेविंग करने वाले से सभी लोग काफी नजदीक से जुड़े होते हैं। ऐसे में उन्हें कोरोना से सुरक्षा प्रदान करना प्राथमिकता होगी अब प्राथमिकता के आधार पर स्पेशल ड्राइव चलाकर उन्हें वैक्सीनेशन किया जाएगा।

सदर अस्पताल में 12*7 होगा टीकाकरण :

राज्य सरकार और स्वास्थ्य विभाग कोविड टीकाकरण के प्रसार को बढ़ाने और 18 वर्ष से ऊपर के सभी नागरिकों को टीकाकृत करने के लिए संकल्पित है। इसके लिए टीकाकरण सत्रों की संख्या में विस्तार, नए-नए स्थलों का चयन और लाभार्थियों को उनके घर के समीप टीका लगाने जैसे कई कदम उठाये गए हैं। इसी क्रम में अब सदर अस्पताल परिसर में 12/7 टीकाकरण केंद्र बनाया जाएगा जिसके तहत सुबह 9:00 बजे से रात्रि 9:00 बजे तक टीकाकरण किया जाएगा।

सहयोगी संस्था के सहयोग से सफल हुआ अभियान :

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ एसके विश्वकर्मा ने बताया टीकाकरण के लिए स्वास्थ्य विभाग के साथ-साथ आईसीडीएस, जीविका, यूनिसेफ ,केयर इंडिया, डब्ल्यूएचओ, यूएनडीपी, सिफारसीफ़ार, पाथ, आशा, आंगनवाड़ी सेविका, शिक्षक, पीआरआई सदस्य सभी का काफी योगदान रहा। और सभी के सहयोग से ही जिले में लक्ष्य अधिक लोगों का टीकाकरण किया जा सका।

टीकाकरण करने के लक्ष्य के विरूद्ध 4.62 लाख लोगों का ही किया जा सका टीकाकरण

मधुबनी : जिले में 32 लाख लोगो को टीकाकरण करने के लक्ष्य के विरूद्ध 4.62 लाख लोगों का ही टीकाकरण किया जा सका है। टीकाकरण अभियान को गति देने के लिए जिले के सभी प्रखंडों में अतिरिक्त टीकाकरण केन्द्र बनाकर तथा टीका एक्सप्रेस के माध्यम से लोगों को घर-घर टीका दिया जा रहा है। इसी कड़ी में दिनांक 16.06.2021 को जिले में एक नई पहल के तहत स्पेशल ड्राइव चलाकर 18 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के कुल-30,870 लोगों को कोविड-19 टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा गया था।

जिसके विरूद्ध 33800 कोविड-19 टीकाकरण हुआ, जो एक रिकॉर्ड है,क्योंकि जिला में आज तक एक दिन में कभी भी इतना टीकाकरण नहीं हुआ है। मधुबनी जिला ने राज्य सरकार के द्वारा जिला को दिए गए लक्ष्य के विरूद्ध 108 % लक्ष्य प्राप्त किया। उल्लेखनीय है कि स्पेशल ड्राइव के अन्तर्गत टीकाकरण के लिए जिले में कुल-275 टीकाकरण केन्द्र बनाएं गये थे। सभी केन्द्रों पर 120 लोगों को टीकाकरण किया जाना था। टीकाकरण अभियान में भाग लेने के लिए जिला की जनता को जिला प्रशासन की और से हार्दिक धन्यवाद।

पंचायत के वार्ड क्रियान्वयन प्रवंधन समिति मानक गुणवत्ता की अनदेखी

मधुबनी : जिले के लदनियां प्रखंड के कुमरखत पूर्वी पंचायत सहित सम्पूर्ण प्रखंड में लोगों को नहीं मिल रहा है नल का जल। लोग आज भी कम लेयर का पानी पीने को है अभिश्रापित। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का ड्रीम प्रोजेक्ट मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना के तहत हर घर को नल का जल उपलब्ध कराने हेतु पंचायत के खाते में उपलब्ध कराई गई राशि से वार्ड क्रियान्वयन समिति के माध्यम से वार्ड के लोगों को गुणवत्ता पूर्ण पानी उपलब्ध कराने की योजना धरातल पर उतारने से पहले ही दम तोड़ दिया है।

पंचायत के वार्ड क्रियान्वयन प्रवंधन समिति मानक गुणवत्ता की अनदेखी कर टावर, टंकी, पाइप लाइन का काम कर लोगों के घरों में नल पहुंचा कर शुरू में लोगों को एक आध दिन पानी उपलब्ध कराकर उक्त योजना का दर्शन करा दिया। अब जब उनके द्वारा पानी छोड़ा जाता है, तो पाइप पानी उपलब्ध कराने से पहले ही क्षतिग्रस्त हो जाता है। कारण वार्ड क्रियान्वयन एवं प्रवंधन समिति के द्वारा लोगों को पानी देना बंद कर दिया गया है।कुल मिलाकर यह कहना गलत नहीं होगा कि मुख्यमंत्री का यह महत्त्वाकांक्षी योजना अब शोभा की वस्तु बनकर रह गया है।

इधर लोग लाखों खर्च कर ताम-झाम से शुरू इस योजना को देखते हुए अपने आंगन एवं दरबाजे पर लगाये स्वंय के द्वारा या सरकार के द्वारा लगाए गए चापाकल का मरम्मत भी महिनों से नहीं करबाने के कारण लोगों को पानी के लिए एक दरवाजे से दूसरे दरवाजे तक भटकना पड़ता है। कभी कभी लोगों को कोपभाजन का शिकार होना पड़ता है, तो कभी कभी विवाद को भी जन्म दे देता है। इस पंचायत समिति सदस्य राम कुमार यादव ने सरकार से मांग की है कि सरकार किसी इमानदार जांच एजेंसी से इस योजना का जांच करबाये तो सच्चाई एवं लूट उजागर हो सकता है।

10 वीं बोर्ड परीक्षा में 60 से अधिक अंक हासिल करने वाले छात्र-छात्राओ के लिए सम्मान समारोह

मधुबनी : जिले के अंधराठाढ़ी प्रखंड में 10वीं बोर्ड परीक्षा में 60 से अधिक अंक हासिल करने वाले छात्र-छात्राओ के लिए सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। इस दौरान मदना पंचायत के पूर्व मुखिया सह मौजूदा मुखिया ओजेरा खातून के पति मो० कमरूजमा ने छात्र छात्रायों को कॉपी कलम और बैग देकर पुरष्कृत किया। उन्होंने कहा कि छात्र-छात्राओं के पुरष्कृत करने से इलाके में एक अच्छा संदेश जाएगा।

बच्चों का हौसला बढ़ेगा और परीक्षाओं में अधिकाधिक अंक प्राप्त करने के लिए जी तोड़ मेहनत करेंगे। वे आगे पढ़ लिख कर बड़े पदाधिकारी, डॉक्टर, इंजीनियर आदि बनेगें। पुरष्कृत होने बालों में रूबी कुमारी, नीतीश कुमार, अर्जुन कुमार, रुखसार बानो, रंजना कुमारी, प्रीति कुमारी अंजना कुमारी आदि प्रमुख थे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here