स्कूल से ग़ायब छात्र का शव नदी में मिला,कोहराम

0

दरभंगा । एपीएम थाने क्षेत्र स्थित राजकीयकृत उत्क्रमित मध्य विद्यालय हिछौल से लापता छात्र का शव मंगलवार को नदी में उपलाता हुआ मिला। वह 12 दिसंबर से स्कूल से लापता था। उसकी खोज में पदाधिकारी सहित ग्रामीण गण जुटे थे। इस बीच लोगों को जानकारी मिली की एक बच्चे का शव स्कूल से एक किमी की दूरी पर उपला रहा है। इसके बाद लोगों की भीड़ लग गई। जब उसे बाहर निकाला गया तो वह लापता स्कूल छात्र निकला। इसके बाद परिवार में कोहराम मच गया। सभी चीखने-चिल्लाने लगे। परिवार के लोगों को उम्मीद थी कि उसके घर का लाल जिंदा मिलेगा। लेकिन, इसके विपरीत परिणाम होने से परिवार में दुखों का पहाड़ टूट पड़ा । बता दें कि हिछौल निवासी रामचन्द्र राम के आठ वर्षीय पुत्र शंकर दास अपने घर से 12 दिसंबर को विद्यालय पढ़ने गया था। मध्याह्न भोजन के बाद वह लापता हो गया। देर शाम में जब वह घर नहीं पहुंचा तो परिजनों ने खोजबीन शुरू की। विद्यालय के रसोईया के अलावा मृत छात्र के भाई और सहपाठियों ने बताया कि वह नदी किनारे शौच करने गया था। जो वापस नहीं हुआ। इधर बच्चे के गायब होने की सूचना पर सीओ कमलेश कुमार, एपीएम थानाध्यक्ष, बीईओ आदि छह दिनों से बच्चे की खोज में लगे थे। बच्चे की बरामदगी नहीं होने पर स्थानीय लोग स्कूल टीचर पर लापरवाही का आरोप लगाकर एक दिन सभी को बंधक तक बना लिया था। काफी मान मनौव्वल के बाद आक्रोशित सभी शिक्षकों को मुक्त किया। इधर शव की बरामदगी की सूचना पर सीओ कमलेश कुमार, एपीएम थानाध्यक्ष शिवकुमार प्रसाद ने घटनास्थल पर पहुंचकर शव को कब्जे में ले लिया। लेकिन, लोगों के आग्रह पर पंचनामा बनाकर शव परिजन को सौंप दिया गया।

अपने जिगर के टुकड़े की लाश देख उसकी माता रीता देवी, दादा, दादी, पिता और दोनो भाई की आंखों से अविरल अश्रूधारा बह रही थी। तीन भाई में शंकर सबसे छोटा और सबका प्यारा था। इधर, ग्रामीणों का कहना था कि विद्यालय में सात शौचालय है। बावजूद, बच्चे को शौच के लिए बाहर भेजा जाता है। इस लापरवाही के लिए स्कूल प्रबंधन पर कार्रवाई की मांग कर रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here