राम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण की तरह जानकी जन्मस्थली सीतामढ़ी में जनकनंदनी का बनें भव्य मंदिर: राम माधव

0

दरभंगा: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संपर्क प्रमुख राम माधव ने कहा कि अयोध्या में बनी राम जन्मभूमि की तर्ज पर मिथिला में भी सीता के भव्य मंदिर का निर्माण होना चाहिए। बिहार सरकार से आग्रह है कि कि सीतामढ़ी में भव्य सीता मंदिर का निर्माण कराए। वहां मंदिर के लिए जमीन की कमी नहीं है। सरकार चाहे तो मंदिर निर्माण के बाद पर्यटन स्थल भी विकसित हो सकेगा। मंदिर निर्माण होने से सीता के व्यक्तित्व को सभी जान सकेंगे। वे मंगलवार को मधुबनी लिटरेचर फेस्टिवल के तीसरे दिन कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय में सीता : बियांड बाउंड्रीज विषय पर आयोजित परिचर्चा को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे। माधव ने कहा कि मिथिला बुद्धिजीवियों और विद्वानों की भूमि है। वेदों और उपनिषदों की प्राचीन परंपरा से जुड़ी है। मंडन मिश्र, गार्गी एवं मैत्री की इस धरती पर उपस्थिति इस बात का प्रमाण है। हमारे देश में प्रकृति को मां का दर्जा दिया गया है। ज्यादातर नदियों को नारी स्वरूप में प्रस्तुत किया जाता है।

श्रीलंका के हाईकमिश्नर मिलिंद मोरगुड़ा ने कहा कि मधुबनी लिटरेचर फेस्टिवल एक पुल का काम कर रहा है। यह श्रीलंका, भारत और नेपाल को सीता के संवाद जोड़ता है। यह इस बात की सबसे बड़ी गवाही है कि कैसे सीता असलियत में सीमाओं से इतर विषय है। जानकी मंदिर के महंत रौशन दास ने कहा कि सीता के चरित्र, उनकी कहानी और उनके वर्णन को नेपाल में काफी महत्ता प्रदान की जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here