स्वच्छता रैंकिग में सूबे में चार पायदान नीचे खिसका दरभंगा

0

दरभंगा : केंद्र सरकार द्वारा गुरुवार को देशभर का स्वच्छता सर्वेक्षण रैंकिग जारी किया गया। जिसमें पिछले एक साल में दरभंगा 76 पायदान ऊपर उठ गया है। देश भर में जहां दरभंगा 407 वें से 331वें रैंक पर पहुंच गया, वहीं सूबे में इसका ग्राफ चौथे से आठवें पायदान पर पहुंच गया। पिछले वर्ष हुए सर्वेक्षण रैंकिग में दरभंगा पूरे राज्य में चौथे स्थान पर था। इस साल दरभंगा का ग्राफ चार पायदान नीचे खिसक गया है। इस वर्ष के सर्वेक्षण में दरभंगा 1557.31अंक प्राप्त कर 331वें स्थान पर रहा। भारत सरकार द्वारा जारी स्वच्छता रैंकिग में पूरे बिहार में डालमिया नगर (सासाराम) पहले, बेगूसराय दूसरे, मुंगेर तीसरे, मुजफ्फपुर चौथे, बेतिया पांचवें, किशनगंज छठे, हाजीपुर सातवें और दरभंगा आठवें स्थान पर रहा। यह जानकारी देते हुए नगर आयुक्त घनश्याम मीणा ने बताया कि पिछले वर्ष की अपेक्षा दरभंगा की रैंकिंग में इस बार काफी सुधार हुआ है। आगे कोशिश रहेगी कि दरभंगा देश भर के टॉप टेन शहरों की सूची में शामिल हो। वहीं, मेयर बैजंयती देवी खेड़िया ने बताया कि निगमकर्मियों की बदौलत हमलोगों ने पूरे वर्ष साफ-सफाई आदि को लेकर कड़ी मशक्कत की। इसका परिणाम हुआ कि दरभंगा की रैंकिग देशभर में पिछले वर्ष की अपेक्षा 74 अंक ऊपर होकर 331वें स्थान पर पहुंची। शहर को नंबर वन बनाने के लिए शहरवासियों से सहयोग की अपेक्षा है। लोग यदि अपने गली-मोहल्ले व बाजार को स्वच्छ बनाएं रखेंगे, तो निश्चित तौर पर हमारी रैंकिग में सुधार होगा।

तीन विभाग में दिया जाता है अंक

स्वच्छता सर्वेक्षण को लेकर चार हजार अंक देने का है प्रावधान है। इसको तीन विभागों में बांटा गया है। जिसमें 1400 अंक शहर की साफ-सफाई, 1400 अंक लोगों की प्रतिक्रिया व 1200 अंक जांच दल द्वारा सर्वे के आधार पर दिया जाता है। वर्ष 2019 के अक्टूबर-नवंबर महीने में किए गए सर्वे के दौरान साफ-सफाई को लेकर नगर निगम क्षेत्र में जांच टीम ने कचरा उठाव और उसके निस्तारण, सड़कों की सफाई, डोर टू डोर कचरा उठाव, सार्वजनिक शौचालय, तालाब, व्यवसायिक क्षेत्र सहित स्लम एरिया को आधार बनाया था। टीम ने डंपिग ग्राउंड के बारे में भी जानकारी ली।

——————–

देश भर में स्वच्छता रैंकिग में इंदौर टॉप पर

स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 के परिणामों में एक बार फिर से इंदौर ने बाजी मारी है। केंद्र सरकार की ओर से जारी स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 में इंदौर इस साल भी टॉप पर है। वहीं, गुजरात का सूरत शहर दूसरे स्थान पर रहा। इंदौर पिछले तीन साल से टॉप पर था और यह उसका लागातार चौथा साल है। इससे पहले चार बार इस तरह का सर्वेक्षण हो चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here