एक मोबाइल नंबर…और खुलने लगी दरभंगा रेलवे स्टेशन ब्लास्ट की परतें, अब तक हो चुकी है 4 संदिग्धों की गिरफ्तारी

0

दरभंगा रेलवे स्टेशन पर 17 जून को हुए पार्सल में हुए ब्लास्ट के मामले मे NIA ताबड़तोड़ कार्रवाई कर रही है। हैदराबाद के बाद एनआईए की टीम ने उत्तर प्रदेश के शामली जिले से दो संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार है। जिन्हें शनिवार को एनआईए की टीम यूपी से बिहार ले आई। जहां एटीएस दफ्तर में आतंकियों से पूछताछ की और फिर एनआईए कोर्ट में पेश करने के लिए ले गई। अबतक चार संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार हो चुके हैं। इनकी गिरफ्तारी में एक मोबाइल नंबर ने अहम रोल निभाया।

दरअसल पार्सल को सिकंदराबाद स्टेशन से पार्सल भेजने वाले का नाम-पता सूफियान निवासी सिकंदराबाद (आंध्र प्रदेश) लिखा था। इस पार्सल को दरभंगा में मोम्मद सुफियान को ही रिसीव करना था। जिस तरह से पार्सल पर भेजने वाले और रिसीव करने वाले का एक ही नाम था, उसी तरह से दोनों जगहों पर एक ही मोबाइल नंबर दर्ज किया गया था। ब्लास्ट के बाद पुलिस और एटीएस ने मोबाइल नंबर जांच की तो मोबाइल नंबर शामली जिले के कैराना कस्बे का निकला था।

फिर बिहार पुलिस और एनआईए की टीम ने यूपी एटीएस को मामले की जानकारी देते हुए मदद ली और लोकेशन ट्रेस कर छापेमारी करते हुए कासिम उर्फ कफील को कब्जे में ले लिया। कफील से मिली जानकारी के आधार पर ही सलीम को गिरफ्तार कर लिया गया। जिस मोबाइल नंबर के आधार पर पुलिस शामली में पहुंची वो कफील का था। टीम ने कफील को 23 जून को ही हिरासत में ले लिया था। जिसकी निशानदेही में हैदराबाद में छापेमारी हुई।

बीते गुरुवार को एनआईए ने हैदराबाद के न्यू मेलापल्ली में छापेमारी करते हुए दो संदिग्ध आतंकी इमरान मलिक उर्फ इमरान खान और मोहम्मद नासिर खान को गिफ्तार किया था। इनके घर की तलाशी में IED बम बनाने के तरीके और इस्तेमाल किए जाने वाले विस्फोटकों से संबंधित कई तरह के दस्तावेज बरामद किए गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here