शहरी क्षेत्र से जल-निकासी को लेकर हुई बैठक, 15 जून तक उड़ाही का अवशेष कार्य पूर्ण करें : डी.एम.

0

दरभंगा, 03 जून 2021 :- जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस.एम. की अध्यक्षता में अम्बेदकर सभागार, दरभंगा में 15 जून से संभावित वर्षा के दौरान दरभंगा शहरी क्षेत्र को जल-जमाव से मुक्त रखने तथा तीव्र गति से जल-निकासी को लेकर माननीय नगर विधायक श्री संजय सरावगी एवं माननीय महापौर श्रीमती बैजयंती देवी खेड़िया की उपस्थिति में नगर आयुक्त मनेश कुमार मीणा एवं संबंधित विभाग के पदाधिकारियों एवं अभियंताओं के साथ बैठक की गयी। नगर आयुक्त बैठक में ऑनलाईन जुड़े हुए थे।
 
बैठक को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि प्रत्येक वर्ष की भाँति 15 जून से वर्षा की शुरूआत होने की संभावना है और वर्षा के दौरान दरभंगा शहरी क्षेत्र में जल-जमाव होने पर लोगों को काफी परेशानी होती है। इसलिए शहरी क्षेत्र के जितने भी नाला व कलवर्ट हैं, उनकी सफाई एवं उड़ाही 15 जून से पहले हो जानी चाहिए।
 
उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्र के 35 नाला की सूची दिखलायी जा रही है, जिनमें से 27 की उड़ाही पूर्ण रूपेण दिखलाया जा रहा है तथा 08 नाले में उड़ाही का कार्य चालू दिखलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अगले 10 दिनों में बचे हुए इन सभी नालों का पूर्ण रूपेण उड़ाही एवं सफाई हो जानी चाहिए और जिन नालों को पूर्ण रूपेण सफाई कराया हुआ दिखाया जा रहा है, उसे भी पुनः दिखवा लिया जाए।
 
उन्होंने कहा कि बागमती नदी में गीदरगंज के पास भ्रमण के दौरान जल निकास बिन्दु पर उन्होंने कचरा जमा हुआ पाया था, जिसे नगर निगम द्वारा साफ करवा लिया जाए ।
  
बैठक से ऑनलाइन जुड़े नगर आयुक्त मनेश कुमार मीणा ने बताया कि जल-निकासी हेतु विगत वर्ष से बेहतर तैयारी की गयी है। यास चक्रवात के दौरान शहरी क्षेत्र में जल-जमाव केन्द्र को चिन्ह्ति कर लिया गया है। नगर निगम के पास 25 वाटर पम्प हैं। यास चक्रवात के दौरान 15 पम्प का ही प्रयोग किया गया था और जल-निकासी बहुत कम समय में कर ली गयी थी। उल्लेखनीय है कि तेज हवा चलने के कारण हवा बन्द होने के पश्चात् जल निकासी हेतु पम्प चलाया गया था। बरसात के लिए चिन्ह्ति स्थलों पर जल निकासी हेतु पम्प स्थापित कर दिये गये हैं। इसलिए जल की निकासी तेजी से की जाएगी।
 
शहरी क्षेत्र से जल-निकासी के 02 रास्ते हैं, एक रेलवे लाईन के बगल से होते हुए कमला नदी की ओर तथा दूसरा बागमती नदी की ओर। उन्होंने कहा कि रेलवे लाईन के साथ-साथ 03 से 03.5 किलोमीटर का कच्चा नाला है। कहीं-कही बीच में जलकुम्भी आ जाने से पानी के बहाव की गति धीमी हो जाती है।   नगर आयुक्त ने बताया कि इस नाले की उड़ाही करायी गयी है। कई जगहों पर अभी भी काम चल रहा है।
    
जिलाधिकारी द्वारा स्थाई सामाधान के लिए रेलवे लाईन के बगल से 03 किलोमीटर वाले कच्चा नाला को पक्कीकरण करने के लिए रेलवे से अनापत्ति प्रमाण-पत्र प्राप्त कर पक्कीकरण करने का प्राक्कलन बनवाने के निर्देश दिये गये। बैठक में उपस्थित रेलवे के अधिकारी ने बताया कि नगर निगम को अनापत्ति प्रमाण-पत्र प्रदान कर दिया जाएगा।
       
बागमती नदी की ओर जल-निकासी में नदी का जल स्तर बढ़ जाने से परेशानी होती है। जब तक जल स्तर नीचे रहता है, तब तक कोई दिक्कत नहीं होती है। जिलाधिकारी ने कहा कि जहाँ-जहाँ स्लूईस गेट हैं, उसे दिखवा लिया जाए और तेजी से जल निकासी हेतु पम्प की व्यवस्था पूर्व से ही रखी जाए।
      
नगर आयुक्त ने बताया कि तीव्र गति से जल निकासी हेतु 80 एच.पी. का वाटर पम्प किराया पर लेने की योजना है। उन्होंने कहा कि जहाँ पहले पानी 04 माह में नही निकलता था, वहाँ अब 03 से 04 दिनों में निकल जाता है।
     
बैठक में उप नगर आयुक्त ने बताया कि रेलवे लाईन के किनारे-किनारे वाला कच्चा नाला की जमीन पर कहीं-कहीं अतिक्रमण रहने के कारण नाला अवरुद्ध हो गया है। गुमटी नम्बर – 22, 23 एवं 24 जो वार्ड संख्या – 44 एवं 45 में पड़ता है, के समीप 02 से 03 जगह पर अतिक्रमण है।
 
जिलाधिकारी ने कहा कि अतिक्रमण स्थलों को चिन्ह्ति करके सूची दे दें। संबंधित अंचलाधिकारी व अनुमंडल पदाधिकारी द्वारा अतिक्रमण हटवा दिया जाएगा।
 
बैठक में माननीय नगर विधायक ने कई नालों एवं कलवर्ट की सफाई की आवश्यकता बतायी। जिसमें रेलवे लाईन के बगल वाला नाला का प्रारंभिक बिन्दु 22 नम्बर गुमटी, चट्टी चौक के पास, हसन चौक से जाने वाली नाला में सकरी मोड़ कलवर्ट के पास, रैंक प्वांइट से सारा मोड़ के बीच, खाजासराय से मिर्जापुर तक के नाला, वार्ड संख्या 01 से 04 के लिए बने कलवर्ट और इसके उपरांत शहरी क्षेत्र के सभी क्रॉस नाला को चेक करवा लेने का सुझाव दिया।
 
उन्होंने कहा कि इन्दिरा गाँधी चौक से एक बड़ा नाला गया है, उसकी भी सफाई की भी आवश्यकता है। उन्होंने रैंक प्वांइट से सारा मोड़ कलवर्ट तक पोकलेन से नाला उड़ही करवाने का सुझाव दिया। गायंत्री मंदिर से गुदरी, दुर्गास्थान तक जिला परिषद् के पीछे वाले क्षेत्र में नाला के गाद की सफाई करवाने का सुझाव दिया। लक्ष्मीसागर में गैस गोदाम से होते हुए सिंहोड़ा नहर तक नाला सफाई की आवश्यकता बताई। उन्होंने खराजपुर में करसाला नाला की उड़ही एवं पक्कीकरण की आवश्यकता बतायी। उन्होंने कहा कि शिवाजी नगर में ऋतुराज फुलवाड़ी के अन्दर पानी निकलता है।  कंगवा गुमटी से सारा मोहनपुर अवस्थित डी.ए.भी. तक 01 किलोमीटर नाले में पोकलेन से सफाई करवाने की आवश्यकता है।    
     
डी.एम.सी.एच.में जल जमाव के संबंध में बताया गया कि वहाँ उडको द्वारा नाला एवं कलवर्ट बनवाया जाना है, यह कार्य विगत डेढ़ साल से लंबित हैं। बताया गया कि वहाँ कलवर्ट बन जाने से डी.एम.सी.एच. में जल-जमाव की समस्या समाप्त हो जाएगा। अधीक्षक, डी.एम.सी.एच. के कार्यालय के समीप से मुख्य नाला में 1200 फीट तक नाला का निर्माण अतिशीघ्र करने हेतु उडको के अभियंता को निर्देश दिया गया।
    
जिलाधिकारी ने कहा कि यदि संवेदक शीघ्र कार्य नहीं प्रारंभ करता है, तो उसके विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज करायी जाएगी। वहाँ नाली एवं कलवर्ट नहीं बनने के कारण डी.एम.सी.एच. में वर्षा होने पर जल-जमाव हो जाता है।
 
कार्यपालक अभियंता, उडको का लगातार सभी बैठको में अनुपस्थित रहने को भी गंभीरता से लिया गया और नगर विकास एवं आवास विभाग के सचिव को प्रतिवेदित करने के निर्देश दिया गया। उन्होंने जल निस्सरण विभाग एवं नगर निगम के पदाधिकारियों को कहा कि कहीं अतिक्रमण की समस्या है, तो अनुमण्डल पदाधिकारी, सदर एवं अंचलाधिकारी से सम्पर्क कर लें। त्वरित गति से अतिक्रमण हटा दिया जाएगा।
     
माननीय विधायक ने सम्पूर्ति पोर्टल के लिए लाभुकों की सूची अद्यतन करने को लेकर किये जा रहे सर्वें की सराहना की तथा कहा कि विगत वर्ष जिन योग्य लाभुकों के नाम छूट गये थे, उनका नाम जोड़ना आवश्यक है।
 
जिलाधिकारी ने कहा कि कोई भी योग्य लाभुक छूटने न पाये तथा गलत नाम रहने न पाये। यदि कहीं लाभुकों की संख्या अधिक है,तो उस अनुरूप सूची तैयार की जा सकती है, लेकिन कोई भी गलत नाम रहने पर संबंधित के विरूद्ध कार्रवाई होगी।
      
बैठक में सहायक समाहर्त्ता अभिषेक पलासिया, उप निदेशक, जन सम्पर्क नागेन्द्र कुमार गुप्ता, जिला भू-अर्जन पदाधिकारी अजय कुमार, अनुमण्डल पदाधिकारी सदर राकेश कुमार गुप्ता एवं संबंधित विभाग के पदाधिकारी एवं अभियंतागण उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here