फसल क्षति का सत्यापन नहीं करने वाले कृषि कर्मियों का किया वेतन बंद। न्यूज़ ऑफ मिथिला

न्यूज़ डेस्क।
दरभंगा,25 जनवरी।

दरभंगा जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस.एम. ने आपदा वर्ष 2019 में हुए फसल क्षति का सत्यापन कार्य ठीक से नही करने वाले कृषि कर्मियों से स्पष्टीकरण पूछा है, और उनके वेतन भुगतान पर रोक लगा दिया गया है। इसमें गौड़ाबौराम एवं घनश्यामपुर के प्रखण्ड कृषि पदाधिकारी तथा गौड़ाबौराम के ए.टी.एम. राजीव कुमार एवं घनश्यामपुर के कृषि समन्वयक मिहिर कुमार सिंह के नाम शामिल है। उन्होंने कहा कि बाढ़/आपदा के वक्त राहत एवं बचाव कार्य तथा प्रभावित परिवारों को मुआवजे की राशि का भुगतान कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता दिया जाना है। इन कार्यों में शिथिलता एवं लापरवाही स्वीकार नहीं की जा सकती है। वे सभाकक्ष में आयोजित कृषि टास्क फोर्स की बैठक में बाले रहे थे। उन्होंने कहा कि सर्वेक्षण कार्य हेतु आपदा विभाग द्वारा 31 जनवरी 2020 अंतिम तिथि निर्धारित है। उक्त अवधि तक जिस भी कर्मी के स्तर से सत्यापन कार्य पेडिंग रहेगा उन्हें सेवा से हटा दिया जायेगा।
जिलाधिकारी ने कृषि पदाधिकारी को कहा है कि वे प्रतिदिन की प्रगति की समीक्षा करे और 31 जनवरी तक सभी सत्यापन कार्य पूर्ण कर विभाग के पोर्टल पर अपलोड कराये। समीक्षा में पाया गया कि कुछेक कृषि समन्वयकों/ए.टी.एम. को छोड़कर बाकियों के द्वारा कार्य में लापरवाही बरती गई है। ऐसे कर्मी के द्वारा निर्धारित लक्ष्य की पूर्ति नहीं किये जाने पर पदमुक्त करने की कार्रवाई की जायेगी। अच्छा प्रदर्शन करने वाले में पौहद्दी, रूपौली, मसानकोन पंचायत के कृषि समन्वयकों के नाम शामिल है।
इस बैठक में अपर समाहर्त्ता लोक शिकायत निवारण, जिला कृषि पदाधिकारी, पी.डी. आत्मा सहित सभी कृषि समन्वयक, ए.टी.एम. आदि उपस्थित थे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *