दरभंगा में ही बनेगा एम्स, प्रस्ताव रिजेक्ट नहीं..,जल्द होगा अंतिम निर्णय : अश्विनी चौबे

दरभंगा , संवाददाता ।

डीएमसीएच और एसकेएमसीएच के सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल के निर्माणकर्ताओं को गुरुवार को दिल्ली तलब किया गया है। डीएमसीएच में एम्स निर्माण की प्रक्रिया को अंतिम रूप केंद्र और बिहार सरकार की एक विशेष बैठक में दिया जाएगा। दरभंगा में एम्स को रिजेक्ट नहीं किया गया है। बिहार सरकार ने ही डीएमसीएच में एम्स का प्रस्ताव दिया था। यह बातें केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने बुधवार को कही। वह डीएमसीएच में बन रहे इस अस्पताल के निर्माण का जायजा लेने बुधवार को दरभंगा पहुंचे थे। केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री ने कहा कि सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल का निर्माण धीमी गति से चल रहा है। यह भवन मानक पर नहीं बन रहा है। सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल का निर्माण करने वाले संवेदकों को काली सूची में डाला जाएगा। जरूरत पड़ी तो एफआईआर की प्रक्रिया भी होगी। बिहार में दरभंगा व मुजफ्फरपुर में बनने वाले दोनों सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल 150-150 करोड़ की लागत से बन रहे हैं। इस भवन का निर्माण कर तय समय पर नहीं सौंपा गया है। इसके कारण यह अस्पताल अभी तक शुरू नहीं हो पाया है। डीएमसीएच के सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल के निर्माणकर्ता कंपनी के अधिकारियों को मंत्री ने फटकार लगाते हुए हर हाल में भवन को जनवरी में सौंपने के निर्देश दिए हैं, ताकि फरवरी से ओपीडी और छात्रों की पढ़ाई शुरू हो सके।
केंद्रीय मंत्री ने यह भी कहा कि बिहार में एनडीए की सरकार बेहतर काम कर रही है। जदयू और भाजपा का संबंध बना रहेगा।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *