27 दिसंबर को बिरौल में मुख्यमंत्री द्वारा शिलान्यास व उद्घाटित 36 शिलापट्ट फांक रहा है धूल। न्यूज़ ऑफ मिथिला

दरभंगा , संजय कुमार

27 दिसंबर को बिरौल में मुख्यमंत्री द्वारा शिलान्यास व उद्घाटित 36 शिलापट्ट फांक रहा है धूल

तब मुख्यमंत्री ने कहा था चौतरफा विकास व गांव तक बिजली पहुंचने से बिहार में अब न भूत का डर है और ना ही लालटेन की जरूरत

शिलापट्ट पर अंकित नाम अब नहीं हैं उस विभाग के मंत्री,दरभंगा से बदल चुके हैं सांसद तो समस्तीपुर के हो चुके हैं दिवंगत

महज 8 माह पूर्व 27 दिसंबर 2018,दिन गुरुवार को बिरौल अनुमंडल के हनुमाननगर,खोड़ा गाछी खेल मैदान में सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा शिलान्यास व उद्घाटित 36 योजनाओं का शिलापट्ट आजतक जिला योजना कार्यालय में धूल फांक रहा है।तब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ मंच पर उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव, तत्कालीन भवन निर्माण सह जिले के प्रभारी मंत्री महेश्वर हजारी, खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री मदन सहनी, तत्कालीन राज्य योजना पर्षद के सदस्य संजय झा, विधान पार्षद डॉ दिलीप चौधरी,सुनील कुमार सिंह, अर्जुन सहनी,डॉ संजय पासवान, अमरनाथ गामी समेत कई विभाग के प्रधान सचिव,तत्कालीन डीएम डॉ चंद्रशेखर सिंह व अन्य पदाधिकारी भी मौजूद थे।कार्यक्रम में बहुप्रतीक्षित बिरौल से गंडौल सड़क व पंचायत सरकार भवन सहित 36 योजनाओं का शिलान्यास व उद्घाटन किया गया था।इसी कार्यक्रम में बिहार सरकार के योजना एवं विकास मंत्री सह जिले के प्रभारी मंत्री महेश्वर हजारी के प्रयास से निर्माण होने वाली कुशेश्वरस्थान से फुलतोड़ा घाट के बीच 243 करोड़ की लागत से बनने वाली सड़क व पुल भी शामिल था।इन योजना के संबंध में मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में बताया था कि 2 साल में यह योजना पूरी होगी और दरभंगा से खगरिया की दूरी मात्र 80 किलोमीटर रह जाएगी।चौतरफा विकास व गांव गांव तक बिजली पहुंच जाने से बिहार में अब न भूत का डर है और ना ही लालटेन की जरूरत।उन्होंने राज्य के कोने-कोने से पटना की दूरी मात्र 5 घंटे लक्ष्य को लेकर हर तरफ सड़क व पुलिया का जाल बिछाने पर बल दिया था। सिंचाई के लिए पूरे राज्य में कृषि फीडर का निर्माण पर जानकारी दी थी। मगर उनके दावे भरोसे व हकीकत को दरभंगा जिले के पदाधिकारी एवं विभागीय अभियंता हवा निकाल रहे हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा करोड़ों रुपये के उद्घाटन व शिलान्यास किए गए इन 36 योजनाओं में से 6.2 करोड़ से निर्माण होने वाली ऊर्जा विभाग की योजना विद्युत शक्ति उपकेंद्र घोषरामा, आरडब्ल्यूडी बेनीपुर- दरभंगा,भवन निर्माण, बिजली, बिहार राज्य शैक्षणिक आधारभूत संरचना, स्थानीय क्षेत्र विकास निधि, ग्रामीण कार्य समेत कई विभागों की शिलापट्ट जिला योजना कार्यालय में पदाधिकारियों एवं अभियंताओं का बाट जोह रहा है।शिलापट्ट पर प्रभारी मंत्री महेश्वर हजारी के नाम के साथ भवन निर्माण विभाग लिखा हुआ है,जबकि वर्तमान में वे योजना एवं विकास विभाग के मंत्री हैं।कई शिलापट्ट पर दरभंगा सांसद कीर्ति झा आजाद का नाम है, जबकि अब दरभंगा के सांसद गोपाल जी ठाकुर हैं। वही समस्तीपुर सांसद रामचंद्र पासवान का भी पर नाम अंकित है जो अब इस दुनिया में नहीं है। मामले के संबंध में जिला योजना पदाधिकारी कामेश्वर प्रसाद ने बताया कि 27 दिसंबर 2018 को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के द्वारा कुल 36 योजनाओं का शिलान्यास व उद्घाटन किया गया था, जिसमें कई विभागों के करोड़ों की योजना शामिल है। संबंधित विभाग को कई वार पत्र लिखकर शिलापट्ट कार्य स्थल पर लगाने के लिए कहा है। उन्होंने बताया कि मैंने व्यक्तिगत दिलचस्पी लेते हुए दूरभाष पर भी संबंधित पदाधिकारी अथवा अभियंता को इसे ले जाने को कहा है। मगर इसके बावजूद भी वे लोग इसे ले जाना मुनासिब नहीं समझा।

admin: