मधुबनी रेलवे स्टेशन पर बनी मिथिला पेंटिंग गोल्डेन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल।

न्यूज़ ऑफ मिथिला डेस्क । मधुबनी के रेलवे स्टेशन पर बनी पेंटिंग सिरीज एक बार फिर से इतिहास रचेगी। स्टेशन पर बनी लार्जेस्ट ओपेन आर्ट गैलरी को गोल्डेन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में शामिल कर लिया गया है। 27 सितंबर को समारोह के बीच गोल्डेन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के प्रतिनिधि इसकी घोषणा करेंगे। उसी दौरान सर्टिफिकेट भी मिलेगा। कलाकार भी सम्मानित होंगे। रिसर्च कंपनी एऑन मार्केट रिसर्च प्राईवेट लिमिटेड और बामदेव योगा साइंस एवं रिसर्च सेंटर के अथक प्रयास से यह सम्मान मिलेगा।

योग रत्न से सम्मानित रवि व्योम शंकर झा ने इस कला को अंतरराष्ट्रीय पहचान दिलाने के लिए ए ऑन मॉर्केट रिसर्च के अनिल कुमार झा से मुलाकात की। उनके सहयोग से गोल्डेन बुक ऑफ रिकार्ड में आवेदन किया गया। दो बार आवेदन रिजेक्ट हुआ, बावजूद तीसरी बार में आवेदन स्वीकार हुआ। वहां से दो बार टीम निरीक्षण को पहुंची। निरीक्षण के बाद लार्जेस्ट ओपेन आर्ट गैलरी को गोल्डेन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल कर लिया गया। अब गोल्डेन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड के प्रतिनिधि यूएसए से 27 सितंबर को मधुबनी स्टेशन का अंतिम निरीक्षण कर सर्टिफिकेट देंगे। रवि व्योम शंकर झा ने कहा कि गोल्डेन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के प्रतिनिधि डॉ. मनीष विष्नोई ने इसका अपू्रवल कर दिया।

न्यूज़ ऑफ मिथिला के संचालक निशांत झा से दूरभाष पर बातचीत में रवि व्योम शंकर झा ने बताया कि इस समारोह में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भी बतौर मुख्य अतिथि बुलावा भेजा गया है। इधर, स्थानीय लोगों ने बताया कि रेलवे स्टेशन के सैकड़ों कलाकारों ने जो सपना देखा था वह पूरा होने जा रहा है। इसके लिए सभी कलाकारों और आम जनमानस में इसको खुशी का माहौल है।

admin: