राजभवन प्रधान सचिव ने किया पुस्तकालय व छात्रावास का उद्घाटन । News of Mithila

न्यूज़ ऑफ मिथिला,दरभंगा । बिहार के कॉलेजों में गिरती शिक्षण व्यवस्था पर चिंता जाहिर करते हुए रजभवन के प्रधान सचिव विवेक कुमार सिंह ने आज कहा कि छात्र अपनी मेधा बढ़ाएं और प्रतिस्पर्धा को स्वीकार करें। सिर्फ डिग्री लेने से कोई फायदा नहीं होने वाला है। ऐसे में छात्र खुद को ठगता है, परिवार को ठगता है और अंतोगत्वा उस शिक्षण संस्थान को भी ठगता है जहां के वे छात्र होते हैं। इसलिए शार्ट कट से बचिए और अपने विषय वस्तु से सम्बन्धित ज्ञान को बढ़ाइए। तभी प्रतियोगी परीक्षाओं में सफल होने की गारंटी रहेगी। स्थानीय महारानी अधिरानी रमेश्वरलता संस्कृत कालेज में पुस्तकालय भवन एवं छात्रावास समेत संस्कृत सप्ताह कार्यक्रम का उद्घाटन करने के बाद श्री सिंह ने मुख्य अतिथि के रूप में उक्त बातें कही।

उन्होंने स्पष्ट किया कि रजभवन भी चाहता है कि उच्च शिक्षा में सुधार हो। यही सोच कालेजों व विश्वविद्यालयों के विद्वान शिक्षकों की भी होनी चाहिए।जब कालेज हैं और शिक्षक भी हैं तो छात्र कक्षा तक क्यों नहीं आएंगे, इस पर सामूहिक चिंतन की जरूरत है।उन्होंने कहा कि निजी कोचिंग संस्थानों में छात्रों की भीड़ लगी रहती है जबकि अमूमन वहां विद्वान शिक्षकों का अभाव रहता है।

लगे हाथ प्रधान सचिव ने एक नसीहत भी दी। नालन्दा व विक्रमशिला विश्वविद्यालयों का नाम लेकर अतीत की परछाइयों में चलेंगे। हमे वर्तमान समय में जीना होगा। अपने विरासत, क्षमता व मेधा के अनुरूप कार्य करना होगा। उन्होंने मेधा विस्तार के लिए इंटर कालेज प्रतियोगिता आयोजित करने की सलाह दी। इसके पूर्व उन्होंने रजभवन में आयोजित शास्त्रार्थ कार्यक्रम की काफी प्रशंसा की और आयोजक कालेज का नैक से मूल्यांकन होने पर प्रसन्नता जाहिर की।

उक्त जानकारी देते हुए पीआरओ निशिकांत ने बताया कि कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कुलपति प्रो0 सर्व नारायण झा ने कहा कि पदाधिकारी तो अनेक हैं लेकिन हमारे प्रधान सचिव विवेकपूर्ण अधिकारी हैं जो हमेशा संस्कृत विश्वविद्यालय पर अपनी कृपा बनाये रहते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि संस्कृत में मेधा का अभाव नहीं है। सिर्फ इसका मार्केटिंग कायदे से नहीं हो पा रहा है। वहीं विशिष्ट अतिथि प्रतिकुलपति प्रो0 चन्द्रेश्वर प्रसाद सिंह ने भी प्रधान सचिव की पूरे बिहार के संदर्भ में नायाब सोच की प्रसंशा की। उन्होंने कहा कि उच्च शिक्षा का उन्नयन कैसे हो इसके लिए प्रधान सचिव हमेशा चिंतित रहते हैं।

डॉ विजय कुमार मिश्र के संचालन में हुए कार्यक्रम में स्वागत भाषण प्रधानाचार्य डॉ दिनेश झा ने तथा धन्यवाद ज्ञापन अतिथि शिक्षक डॉ प्रमोद कुमार मिश्र ने किया। स्वागत गान छात्र नेता मनोरंजन झा ने प्रस्तुत किया। कार्यक्रम की समाप्ति के बाद वीसी, प्रोवीसी, प्रोक्टर, सीसीडीसी समेत अन्य पदाधिकारियों ने कॉलेज परिसर में पौधरोपण भी किया। इस मौके पर सभी पदाधिकारी, कर्मी, छात्र उपस्थित थे।

admin: