सुषमा स्वराज के निधन से सदमे में गोपलजी ठाकुर, आत्मा की शांति के लिए की प्रार्थना। न्यूज़ ऑफ मिथिला

न्यूज़ ऑफ मिथिला डेस्क । भारतीय जनता पार्टी की दिग्गज नेता और भारत की पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का 67 साल की उम्र में एम्स में निधन हो गया. सुषमा स्वराज के निधन के बाद पूरे देश में शोक है. पूर्व विदेश मंत्री ,भाजपा की वरिष्ठ नेत्री संपूर्ण विश्व में महिला सशक्तिकरण की प्रतिमूर्ति सुषमा स्वराज के यूं अचानक दुनिया से चले जाने पर दरभंगा सांसद श्री गोपलजी ठाकुर ने गहरी शोक संवेदना व्यक्त की और उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की है.

सुषमा स्वराज को याद करते हुए दरभंगा के सांसद गोपलजी ठाकुर ने कहा, सुषमा स्वराज जी के जाने की खबर सुनकर गहरे सदमे में हूं. एक शानदार, ईमानदार नेता, बहुत ही संवेदनशील थी. हमें उन्हें हमेशा याद करेंगे.
श्री ठाकुर ने उन्हें याद करते हुए कहा कि बहन सुषमा जी 2005 के चुनाव प्रचार के दौरान दरभंगा जिला स्थित मेरे पैतृक गांव पङरी पहुंच कर मुझे आशिर्वाद दी थी ।मेरे परिवार ने मिथिला के परंपरा अनुसार उन्हें पाचों टूक कपड़ा खोंईछा (आँचल) भरकर उन्हें विदाई की थी जीवन पर्यंत मेरे जेहन में वह यादें ताजा रहेंगी.

मिथिला कि परंपरा एवं संस्कृति से विशेष लगाव होने के कारण सुषमा जी अक्सर मिथिला क्षेत्र का दौरा करती रहती थी.
सुषमा जी , 2015 में बेनीपुर के हाबीभौआर गाँव भी गई थी. मिथिला क्षेत्र के लोग उनकी असामयिक निधन से काफी ममार्हत है.

श्री ठाकुर ने लोकसभा चुनाव जीत के उपरांत के प्रसंग याद करते हुए कहा कि सांसद के रूप में मैं जब दिल्ली गया तो उनसे आशीर्वाद लेने उनके आवास पर गया था तब उनका मिथिला का बेटा कहकर संबोधित करना और जनसेवा में निरंतर आगे बढ़ते रहने के लिए ढेर सारी शुभकामनाएं देना आजीवन जनसेवा को प्रेरित करेगा.

2016 के 21 नवंबर को जब वे विदेश मंत्री थी और बीमार हो गई थी तब भी पड़री गाँव में इनके स्वस्थ होने की कामना से हवन किये थे.

नरेंद्र मोदी जी के सरकार में विदेश मंत्री रहते हुए उन्होंने ही दरभंगा में लघु पासपोर्ट सेवा केंद्र खोलने की मंजूरी दी थीं. मिथिला के सर्वांगीण विकास के लिये वो सदा ही सतत चिंतित रहती थी.
श्रधेय अटल जी के सरकार में मैथिली को संविधान की अष्टम अनुसूची में स्थान दिलवाने में भी उनका अहम योगदान रहा था.
अंतिम कुछ घंटे पहले सांस लेने से पूर्व भी धारा 370 खत्म होने पर आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के सरकार को ट्वीट के माध्यम से बधाई दी जो उनके अंदर की राष्ट्रप्रेम को दर्शाती है. उन्होंने कहा कि बहन सुषमा जी के निधन के साथ भारतीय राजनीति में जो रिक्तता आई है उसे दशकों तक भरना संभव नहीं हो पाएगा.

admin: