अपराधियों ने खुद को पुलिस बताकर गांजा की तलाशी लेने के बहाने एक शिक्षक के घर में घुस डाला डाका

मधुबनी । अपराधियों ने खुद को पुलिस बताकर गांजा की तलाशी लेने के बहाने एक रिटायर्ड शिक्षक के घर में घुसकर भीषण डाका कांड को अंजाम दे डाला। हथियार से लैस अपराधियों ने राजनगर-मधुबनी मुख्य पथ पर बेल्हवार चौक से पूरब स्थित ठीकाक्योंटा गांव में रिटायर्ड शिक्षक योगेंद्र चौधरी उ़र्फ बृजेन्द्र चौधरी के घर बुधवार की रात डाका डाल आराम से चलते बना। इस डाका काड में डकैतों ने एक लाख रुपये नकद, सोने-चांदी के जेवरात समेत तीन लाख रुपये की संपत्ति हथियार के बल पर लूट लिया।

इस दौरान डकैती की घटना का प्रतिरोध करने पर डकैतों ने गृहस्वामी के दामाद बेनीपट्टी थाना क्षेत्र के बनकट्टा गांव निवासी बालबोध झा के सिर पर धारदार हथियार से वार कर जख्मी कर दिया। इस वारदात की सूचना पर गृहस्वामी का पुत्र चंद्रमोहन चौधरी, जो मुजफ्फरपुर में थे, ने फोन से स्थानीय थाना पुलिस को इस घटना की जानकारी दी। इसके बाद राजनगर थाना पुलिस पदाधिकारी दलबल के साथ घटनास्थल पर पहुंची। लेकिन, पुलिस के पहुंचने से पहले ही सभी डकैत भाग चुके थे। बुधवार को रात में ही करीब एक बजे सदर एएसपी कामिनी बाला भी घटनास्थल का जायजा लेने पहुंची। घटना का जायजा लेने के बाद ठीका क्योंटा गांव निवासी मिश्री पासवान को संदेह के आधार पर हिरासत में ले लिया। गुरुवार को एसपी सत्यप्रकाश ने भी घटनास्थल पर पहुंच कर घटनास्थल का जायजा लिया। पिस्टल की नोंक पर गृहस्वामी के पुत्र को कब्जे में लेकर कमरा में बंद कर डाला : इधर गृहस्वामी ने बताया कि डकैती की घटना में शामिल पांच अपराधी दीवार फांदकर कर आंगन में पहुंचे गया। इसके बाद अहाते के पूर्वी भाग में लगे लकड़ी के दरवाजे की सिटकनी को तोड़ डाला। फिर सभी अपराधी दरवाजे से सटे गृहस्वामी के कमरे का गेट खुला होने का फायदा उठाते हुए उनके कमरे में प्रवेश कर गया। योगेंद्र चौधरी व उनकी पत्नी रामदाई देवी को कब्जे में लेते हुए अपराधियों ने कहा कि वे लोग पुलिस विभाग से हैं। आपके कमरे में गांजा रखे होने की सूचना मिली है। जिसकी जांच हेतु आए हैं। इसके बाद उनसे चाबी लेकर आलमीरा को खोला तथा उसमें रखे हुए सामानों को बिखेर दिया।फिर बगल वाले कमरे में घुसकर आलमीरा से 5 हजार मूल्य का आभूषण लूट लिया। फिर सभी अपराधी घर के पश्चिम-उत्तर कोने पर स्थित कमरे के गेट को धक्का मार कर खोल दिया तथा धड़ाधड़ अंदर प्रवेश कर गए तथा प्रतिरोध करने पर गृहस्वामी के दामाद बालबोध झा पर धारदार हथियार से वार कर जख्मी कर दिया। अपराधियों ने बेटी व दामाद को कब्जे में लेकर एक लाख नकद व सोने-चांदी के आभूषण समेत कुल तीन लाख की परिसंपत्ति की लूट ली। बगल के कमरे में सोये गृहस्वामी के पुत्र श्रवण चौधरी जब आहट पाकर बाहर निकले,तो अपराधियों ने पिस्टल की नोंक पर कब्जे में लेते हुए उनको कमरे में बंद कर दिया। गृहस्वामी के दामाद का इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है। गृहस्वामी के अनुसार डकैत 15-20 की संख्या में थे। इस घटना से योगेंद्र चौधरी के परिजन व आसपास के लोग दहशत में हैं।

admin: