दरभंगा: 3 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार…

न्यूज़ डेस्क।
दरभंगा।

हवसी ने 3 वर्ष के मासूम के साथ की दुष्कर्म। बता दें की बेंता ओपी क्षेत्र में गुरुवार को 3 वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म किए जाने का मामला सामने आया है, बताया जाता है की दुष्कर्मी बच्ची को टॉफी के बहाने उसके माँ से लेकर गया था। इस मामला के सामने आते हीं स्थानीय लोग आक्रोशित होकर आरोपित की जमकर जमकर धुनाई कर दी। हर ओर से एक ही आवाज थी कुकर्मी को मार दो उसके बाद जिसे जहां मौका मिला वह अपने हाथ सफाई करने में लगे रहे। घटना की सूचना मिलते हैं बेंता ओपी प्रभारी सरवर आलम पुलिस बल के साथ पहुंचकर आरोपित को अपने कब्जे में ले लिया। वहीं खून से लथपथ पीड़ित बच्ची को डीएमसीएच में भर्ती कराया गया। वहीं आरोपित अमन राम को जख्मी स्थिति में डीएमसीएच के कैदी वार्ड में भर्ती कराया गया है। आरोपित सदर थाना क्षेत्र के कबीरचक मोहल्ला निवासी रामू राम का पुत्र है।

घटना स्थल पर जुटे लोग…

घटना के संबंध में बताया जाता है कि वह बेंता ओपी स्थित एक मोहल्ले में अपने नाना के घर आया था। पड़ोस की बच्ची को देख चॉकलेट टॉफी खिलाने के बहाने गोद में उठा लिया और बच्ची की मां से कहा उसे चौक पर जल्द लेकर आ रहे हैं। काफी देर के बाद जब बच्ची वापस नहीं आई तो उसकी मां परेशान हो गई। अपने घर से निकल कर खोजने लगी। इसी बीच पड़ोसी सुरेश राम के घर से बच्चे की रोने की आवाज आई तो घर के अंदर जाकर देखी तो उसके बच्ची के साथ आरोपित अमन राम दुष्कर्म कर रहा था। बच्ची खून से लथपथ थी और बदहवास चिल्ला रही थी। पीड़िता की मां ने हल्ला की तो पूरे मोहल्ले के लोग इकट्ठा हो गये। आरोपित भागने की कोशिश किया तब तक लोगों ने उसे दबोच कर जमकर धुनाई करने लगे। आरोपित जिस घर में दुष्कर्म कर रहा था। वह उसके नाना का मकान है। दुष्कर्मी ज्यादातर समय अपने नाना के घर ही बिताता था। यही कारण था पीड़िता के परिजनों ने विश्वास पर उसके साथ अपने बच्चे को जाने दिया। अमन राम नशेड़ी बताया गया है। वह रोजाना ड्रग्स लेता है इससे मोहल्ले के लोगों में और ज्यादा आक्रोश था। इधर घटना की सूचना मिलते ही सदर एसडीपीओ अनोज कुमार, महिला थानाध्यक्ष सीमा कुमारी आदि पुलिस पदाधिकारी मौके पर पहुंचकर पीड़िता की मां का फर्द बयान लिया और घटनास्थल से कई साक्ष्य को कब्जे में ले लिया है। सदर डीएसपी ने बताया पीड़िता का मेडिकल जांच करवाया जाएगा और उसके कपड़े की जांच एफएसएल टीम से कराई जाएगी। इस संबंध में एसएसपी बाबूराम ने कहा कि आरोपित को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने के लिए स्पीडी ट्रायल चलाई जाएगी। 48 घंटे में कोर्ट में आरोप पत्र समर्पित कर दिया जाएगा।

admin: