दरभंगा : बहादुरपुर स्वास्थ्य केंद्र में मरीज को दी गई एक्सपायरी डेट की दवा, मरीज बने चर्म रोग के शिकार।

बहादुरपुर स्वास्थ्य केंद्र नें टीबी रोगी को दिया एक्सपायरी दवा

12 जून 19 को प्रखंड यक्षमा केंद्र के कर्मी ने दी नवम्बर 17 की एक्सपायरी दवा

दवा खाने के बाद रोगी को हुए कई प्रकार के चर्म रोग,शरीर के वजन में कमी व कमजोरी

फोटो : प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बहादुरपुर के द्वारा दी गई दवाइयां

दरभंगा। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बहादुरपुर के द्वारा टीबी यक्षमा के मरीज को दिये गए एक्सपायरी दवा खाने से टीबी मरीज की हालत नाजुक हो गई। बहादुरपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के यक्षमा सेंटर द्वारा लापरवाही का यह मामला मंगलवार को प्रकाश में आया है। बहादुरपुर प्रखंड अंतर्गत हरीपट्टी पंचायत के गंगापट्टी गांव निवासी महिंद्र साह के 25 वर्षीय पुत्र लक्ष्मण साह को जिला यक्षमा केंद्र दरभंगा द्वारा स्वास्थ्य जांच कराने के बाद टीबी बीमारी होने की बात सामने आई थी। जिसके बाद उसे बहादुरपुर स्वास्थ्य केंद्र स्थित प्रखंड यक्षमा केंद्र की ओर से दवा कैटेगरी के माध्यम से दवा कोर्स हेतु कार्ड दिया गया था। इसी कार्ड के माध्यम से एमडीआर पंजी पर अंकित 13 दिसंबर 2018 , 9 जनवरी 2019 , 6 फरवरी 2019 ,11 मार्च 2019 , 5 अप्रेल 2019 और 6 मई 2019 को टीबी का दवा दिया गया था। एमडीआर पंजी के मुताबिक रोगी लक्षमण साह ने अंतिम बार 12 जून 2019 को दवा प्राप्त किया था। इन दवाओं में 12 जून को दी गई दवा पर एक्सपायरी तिथी नवम्बर 2017 अंकित था। जिस दवा को उस समय रोगी के द्वारा ठीक से जांचा व परखा नहीं गया था। स्वास्थ्य केंद्र के द्वारा दिये दवा खाने के कुछ दिन बाद ही रोगी के शरीर में कई प्रकार के चर्म रोग व चक्केता जैसी स्थिति बन गई। रोगी का मन बार बार विचलित भी हो रहा है एबं शरीर में कई जगहों पर फुंसियां उग आया है। बतौर परिजनों ने यह भी बताया कि इसके शरीर दुबले पतले भी होते जा रहे हैं। स्वास्थ्य उपकेंद्र द्वारा रोगी को खाने के लिए दी गई दवाइयों को जब परिजनों ने बारीकी से जांच की और स्थानीय शिक्षित लोगों से पठाया तो दवा की एक्सपायरी तिथि माह नवंबर 2017 में ही समाप्त हो चुकी थी। बावजूद भी बहादुरपुर स्वास्थ्य केंद्र ने बड़ी लापरवाही करते हुए बिना जांचे परखे मरीजों को एक्सपायरी दवा दे दिया। दवा पर अंकित एक्सपायरी तिथि देख कर लक्ष्मण साह के पिता महेंद्र साह ने स्वास्थ्य विभाग को इस बात की मोबाइल से जानकारी दिया। एक्सपायरी दवा मिलने की सूचना मिलते ही बहादुरपुर स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया।सूचना मिलते ही स्वास्थ्य विभाग द्वारा मरीज लक्ष्मण साह को कई बार फोन कर स्वास्थ्य केंद्र बहादुरपुर बुलाया जाने लगा।रोगी एबं उसके परिजनों ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के कर्मी द्वारा बार बार फोन कर दवा वापस कर नया दवा ले जाने को कहा जा रहा है।इधर परिजनों ने बहादुरपुर स्वास्थ्य केंद्र की लापरवाही को देखते हुए डरे व सदमे में है।उनका कहना है कि पुनः दवा लाने पर कहीं फिर से एक्सपायरी दवा ही ना दे दिया जाए। जिससे पुत्र की जान गवाना न पड़ जाए। इस संबंध में जानकारी लेने के लिए दोपहर 2 बजे जब प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र स्थित यक्ष्मा केंद्र पर पहुँचा तो कर्मी अनुपस्थित मिले। मामले के संबंध में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ आरके चौधरी ने बताया कि मुझे भी इस मामले की जानकारी मिली है।यह जांच के बाद पता चलेगा कि एक्सपायरी दवा ही मरीज को दे दिया गया है अथवा नहीं।उन्होंने कहा कि यदि ऐसा पाया गया तो दवा देने वाले दोषी कर्मी के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी यह घोर लापरवाही है,जो बर्दाश्त नहीं किया जायेगा।

रिपोर्ट :- संजय कुमार

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *