मृत बच्चों के प्रति व्यक्त की संवेदना तो प्रश्न एवँ ध्यानाकर्षण समिति के सभापति पद से हटाया : अमरनाथ गामी। न्यूज़ ऑफ मिथिला

दरभंगा । हायाघाट के विधायक अमरनाथ गामी आजकल अपने पार्टी जदयू से नाराज़ चल रहे हैं। गामी ने फेसबुक पोस्ट पर अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ने उन्हें प्रश्न एवँ ध्यानाकर्षण समिति के सभापति पद से हटा दिया।

पढ़िए क्या कुछ लिखा है अमरनाथ गामी ने अपने फेसबुक वॉल पर  :-

आज माननीय मुख्यमंत्री जी का धमकी जो मिला था उसकी पहली बानगी देखने को मिली। हम सच क्या बोले जबाब नही मिला। लेकिन सजा जरूर मिल गयी। प्रश्न एवम ध्यानाकर्षण समिति के सभापति पद से मुझे हटा दिया गया।
धन्यबाद मुख्यमंत्री जी मुझे आपके लोकतांत्रिक नेता वाला सोच वाला सपना भी टूट गया। मुजफ्फरपुर के बच्चे के मृत्यु पर व्यान क्या दिया आप आपा से बाहर हो गये। श्रीमान हम तो उस गरीब के बच्चे के प्रति सम्बेदना रखने की बात की। आप तो मेरे खिलाफ सम्बेदन हिन हो गये। पद से ज्यादा मुझे अपने जनता के प्रति बफादारी ज्यादा जरूरी है। हम जन सरोकार की बात करते रहेंगे।
ये पद तो आनी जानी है। हम पूर्व विधायक के टैग के सहारे सामाजिक राजनीतिक जीवन का निर्वहन करेंगे। कौन है जो जीवन भर पद पे रहेगा। हम अपने विचार के साथ जनता के बीच जिंदा रहेंगे। मालूम रहे मेरा कार्यकाल 31 मार्च 2020 तक था।
जय बिहार जय नितीस कुमार। आप करते रहो राजनीतिक प्रहार हम तो करेंगे आप का ही गुणगान।

admin: