मोदी कैबिनेट में बिहार से किसे कौन सा मिला मंत्रालय ?

न्यूज़ ऑफ मिथिला । बिहार के आठ क्षेत्रों सीमांचल, कोसी, पूर्व बिहार, मिथिला, तिरहुत, सारण, भोजपुर और मगध में से चार को केन्द्रीय मंत्रिमंडल में जगह मिली, जबकि चार क्षेत्र बिना प्रतिनिधित्व के ही रह गया। मिथिला और भोजपुर के लोकसभा क्षेत्रों से चुने गये दो-दो सांसद अब केन्द्र सरकार में मंत्री बन गये हैं। वहीं तिरहुत, कोसी, सीमांचल, सारण को प्रतिनिधित्व नहीं मिला।

बिहार कोटे से कैबिनेट मंत्री बने रामविलास पासवान फिलहाल लोकसभा या राज्यसभा के सदस्य नहीं हैं, पर वे खगड़िया के मूल निवासी हैं, इस नाते पूर्व बिहार का प्रतिनधित्व करते हैं। हालांकि लम्बे समय से उनका निर्वाचन क्षेत्र हाजीपुर रहा है। उन्हें मोदी मंत्रिमंडल में उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है. वहीं रविशंकर प्रसाद मगध क्षेत्र के पटना साहिब के सांसद हैं, उन्हें मोदी मंत्रिमंडल में कानून एवं न्याय, संचार और इलेक्ट्रानिक एवं सूचना मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है।

मिथिला के बेगूसराय से जीते गिरिराज सिंह भी काबीना मंत्री बनाए गए हैं, उन्हें पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है। वहीं मिथिला के उजियारपुर लोकसभा के सांसद नित्यानंद राय राज्यमंत्री बने हैं। उन्हें गृह मंत्रालय में राज्य मंत्री बनाया गया है। भोजपुर के दोनों सांसदों राजकुमार सिंह (आरा), अश्विनी चौबे (बक्सर) 2014 की तरह इसबार भी मोदी कैबिनेट में बरकरार हैं। राजकुमार सिंह को राज्य ऊर्जा मंत्री बनाया गया है वहीं अश्विनी चौबे को स्वास्थ्य मंत्रालय में राज्य मंत्री बनाया गया है।

admin: