मधुबनी : पारा चालीस के पार, बिजली गुल, बढ़ी परेशानी

मधुबनी। मई की भीषण गर्मी उसमें भी पारा चालीस के पार है। झंझारपुर में बिजली रानी रूठी हुई है। कारण पंडौल से लेकर झंझारपुर तक कुल 16 किलोमीटर में मेंटेनेंस का काम चल रहा है। यह स्थिति करीब दस दिनों से है। झंझारपुर विद्युत प्रमंडल ने वैकल्पिक व्यवस्था की है यानि पंडौल से बिजली बंद रहने के दौरान भीठ भगवानपुर वाया लखनौर होकर भी बिजली आपूर्ति की व्यवस्था की गई है लेकिन यह व्यवस्था सफेद हाथी साबित हो रहा है। बमुश्किल यह व्यवस्था पूरे दिन में एक से डेढ़ घंटा ही विभिन्न फीडरों में आपूर्ति करने में सक्षम हो रही है। इस स्थिति में उपभोक्ता उफ गर्मी, हाय री बिजली का रट लगा रहे हैं और व्यवस्था को कोसते नहीं थकते। बिजली जब आती है तो लो वोल्टेज की समस्या भी होती है। गर्मी से बेहाल लोगो का आक्रोश बढ़ रहा है। विभाग के अधिकारी ने पहले 8 मई तक बिजली बाधित रहने की बात कही। फिर वह बढ़कर 12 मई हो गया और अब कहा जा रहा है कि 12 दिन और लगेगा। मेंटिनेंस के एई ओम प्रकाश ने कहा कि पंडौल से झंझारपुर के 33 हजार लाइन में तार बदले जा रहे है। कई जगह पोल भी बदला जा रहा है। 16 किलोमीटर का लंबा लाइन है, समय लग रहा है। इन्होंने बताया कि लगभग 12 दिनों की और परेशानी है। यहां यह बता दें कि पूर्व में इस लाइन में चार किलोमीटर मेंटेनेंस का काम हो चुका था। लेकिन बीते दस दिन में मात्र दो किलोमीटर ही मेंटेनेंस का काम पूरा हुआ है। अभी दस किलोमीटर मेंटेनेंस का काम बाकी है। अगर गति यही रही तो एक माह से कम समय नहीं लगेगा। अधीक्षण अभियंता सुनील कुमार ने कहा कि परेशानी से अवगत हैं। दिन के समय भी कम से कम चार घंटे बिजली देने का प्रयास होगा। शाम में चार बजे के टारगेट को पूरा करने का निर्देश दिया गया है। काम मे और अधिक लोगो को लगाकर जल्द पूरा करने का प्रयास है। इन्होंने बताया कि काम जरूरी है, तभी निर्बाध बिजली का सुख मिलेगा। वैसे आज रूक-रूक कर दिन में बिजली आती रही। फिर भी लोग परेशान रहे।

admin: