बेनीपुर स्टेट बैंक एडीबी शाखा के प्रबंधक एवं बैंक कर्मी से उपभोक्ता परेशान।

दरभंगा/बेनीपुर,रतन झा । जहां एक तरफ सरकार आमजन को बचत के प्रति प्रोत्साहित करने को लेकर बैंक से जोडऩे के लिए जनधन खाता खोलने समेत विभिन्न गतिविधियां संचालित कर रही है। वहीं, बेनीपुर मेें स्थित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की कृषि शाखा द्वारा सरकार को बदनाम करने पर तुली हुई है। प्रबंधक दूारा उपभोक्ताओं से संतोषजनक व्यवहार नहीं करते हुए हतोत्साहित किया जा रहा है। क्षेत्र की एसबीआई के कृषि शाखा मेें खाताधारकों को चाहे रुपए जमा करवाने हों, निकासी हों या खाता खुलवाना हो और यहां तक कि कोई अन्य जानकारी लेनी हो तो भी बैंक कर्मचारियों की ओर से ग्राहक सेवा केंद्र भेज दिया जाता है। इसके साथ ही बीस हजार रुपए से कम की राशि तो बैंक में जमा करने से स्पष्ट इन्कार ही कर दिया जाता है। ऐसे में शाखा से करीब 100 मीटर की दूरी पर ग्राहक सेवा केंद्र जहां पर काफी भीड़ लगी रहती है, जिससे ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले खाता धारकों का समय व्यर्थ होता है। इस संबंध में खाताधारक अनिल कुमार , सोनु सिंह, दिनेश, रेखा देवी प्रेम कुमार कमती ने बताया कि बैंक में कर्मचारी होने के बावजूद हर कार्य के लिए ग्राहक सेवा केंद्र भेज दिया जाता है। ऊपर से घंटों लाइन में खड़े होने के बाद कभी लिंक फेल तो कभी कर्मी का तबियत खराब का बहना बनाकर बैंक से बिना निकासी किए वापस जाना पड़ता है। इसको लेकर विरोध करने पर बैंक के प्रबंधक द्वारा कानूनी कार्रवाई की धमकी दी जाती है। जिन लोगों को इस संबंध में थोड़ी जानकारी होती है वे ग्राहक सेवा केंद्र पहुंचकर कार्य करवा लेते हैं, परन्तु ग्रामीण व कम पढ़े-लिखे महिलाएं को इस केंद्र तक पहुंचने में काफी दिक्कत होती है। सोमवार को एसबीआई के कृषि शाखा में 10 बजे से लेकर दोपहर डेढ बजे तक काउन्टर न 2 पर ग्राहकों की लंबी कतारें लगी थी मगर कर्मी नदारद थे । लेकिन शाखा प्रबंधक एके सिंह सब कुछ जानकर भी अंजान बने अपने चेम्बर में बैठे थे । जब कुछ उपभोक्ताओं ने इस संबंध में शिकायत किया तो उलटे ग्राहकों पर ही शाखा प्रबंधक ने धौस देने लगे कि इसी बीच किसी ने इस तरह की समस्या की शिकायत रीजनल मैनेजर से कर दिया । उसके बाद जब वहां से शाखा प्रबंधक से इस संबंध में जानकारी दूरभाष के माध्यम से मिली की आनन फानन में शाखा प्रबंधक एवं अन्य कर्मी ग्राहकों की सेवा देने एंव शिकायत कर्ता को मनाने में लग गये । वहीं अन्य लोगों का कहना था कि जिस दिन से शाखा प्रबंधक के रूप में एके सिंह पदभार ग्रहण किया है उस दिन से लोगों को सप्ताह में दो दिन गुरूवार एंव शनिवार को कार्ड या चेक से भुगतान करने की बात करते हैं । निकासी फार्म, के माध्यम से न तो जमा लेते हैं और न ही निकासी करने देते हैं। इस संबंध में शाखा प्रबंधक एके सिंह ने पूछने पर बताया कि कोई नियम नही है। एक कर्मी का अचानक तबीयत खराब हो गया जिसके कारण 02 नम्बर काउन्टर खाली था । जहां तक कार्ड से निकासी करने की बात है । सप्ताह में दो दिन डिजिटल सिस्टम से लेन देन को बढावा देने के लिए प्रचार-प्रसार हेतु किया गया है ।

admin: