स्टिंग ऑपरेशन में खुलासा, समस्तीपुर के सांसद रामचंद्र पासवान का खुला कच्चा चिठ्ठा..पढ़िये पूरी खबर

दिल्ली ,न्यूज़ ऑफ मिथिला डेस्क । बिहार के समस्तीपुर के सांसद और केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान के भाई रामचंद्र पासवान ने कबूला कि उन्होंने पिछले लोकसभा चुनाव में 5 करोड़ रुपये खर्च किये थे. साथ ही उनका ये भी दावा है कि बिहार में 6 सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए पार्टी उम्मीदवारों पर पूरे 50 करोड़ रुपये खर्च हुए थे.
लोक जनशक्ति पार्टी ने इनको एक बार फिर लोकसभा चुनाव के लिए समस्तीपुर से मैदान में उतारा है. समस्तीपुर में चुनाव पांचवें चरण में है, जिसकी वोटिंग 29 अप्रैल को होगी.
बता दें कि रामचंद्र पासवान तीन बार सांसद रह चुके हैं और चौथी बार मैदान में हैं. पहली बार वह 1999 में सांसद चुने गए. दूसरी बार 2004 में और तीसरी बार 2014 में वो संसद पहुंचे.

(फोटो साभार: टीवी9 भारतवर्ष)

दिल्ली के सरकारी निवास पर सांसद रामचंद्र पासवान ने बताया कि चुनाव लड़ने के लिए उन्हें 5 से 10 करोड़ रुपये तक की जरूरत पड़ती है. जबकि पिछले चुनाव में उन्होंने चुनाव आयोग को जो ब्यौरा दिया वो सिर्फ 28 लाख 59 हजार रुपये का था.
फर्जी कंपनी के नुमाइंदे बनकर टीवी9 भारतवर्ष के ख़ुफ़िया रिपोर्टर ने उन्हें 5 करोड़ के इंतजाम करने का भरोसा दिया. शर्त ये थी कि बदले में कंपनी के प्रोजेक्ट में समस्तीपुर में कोई रुकावट न आए. साथ ही जरूरत पड़ने पर सांसद संसद में कंपनी की समस्याओं को उठायें. रामचंद्र पासवान ने इस पर बिना कोई देरी के पूरे सपोर्ट का भरोसा दे दिया. साथ ही कंपनी को फंड दिलाने को भी तैयार हुए.
पैसे कैश में दें या चेक में देने के सवाल पर सांसद ने कैमरे पर कहा कि चेक में लफड़ा होता है, कैश दे दो, ईज़ी है. उन्होंने बताया कैश में वक्त नहीं लगता.
वे दिल्ली या नोएडा कहीं भी पैसा लेने को तैयार थे. उन्होंने पैसे दिल्ली से बिहार पहुंचते का रास्ता भी बताया.
पासवान ने कहा कि कार्यकर्ता सेट होते हैं पैसा ले जाने के लिए. हवाला में दिक्कत होती है. लाखों लोग दिल्ली आते हैं. हर तरह के लोग आते हैं. अमीर-गरीब. इन लोगों को 2 लाख, 5 लाख, 10 लाख देकर पैसे भिजवा दिए जाते हैं.

नोट: (NEWS OF MITHILA ‘टीवी9 भारतवर्ष’ समाचार चैनल के इस स्टिंग ऑपरेशन की सत्यता की पुष्टि नहीं करता है.)

admin: