दारोगा सहित दो पुलिसकर्मी बर्खास्त, एक के वेतन पर रोक

दरभंगा । डीआइजी क्षत्रनील सिंह ने दारोगा सहित दो पुलिस कर्मियों को बर्खास्त कर दिया है। साथ ही एक दारोगा के वेतन पर रोक लगाते हुए दो साल के लिए प्रोन्नति पर रोक लगा दी है। बर्खास्त होने वालों में एक दारोगा और एक हवलदार शामिल हैं। दारोगा कन्हैया कुमार समस्तीपुर जिले में पदस्थापित रहने के दौरान बिना सूचना के फरार थे। वर्ष 2012 से ही वह अपने ड्यूटी के प्रति लापरवाही बरत रहे थे। इस बीच उनका तबादला प्रक्षेत्र स्तर पर दरभंगा आइजी ने पूर्णिया जोन में कर दिया। बावजूद, दारोगा कुमार ने समय पर योगदान देना मुनासिब नहीं समझा। उसकी लापरवाही के खिलाफ डीआइजी ने कार्रवाई शुरू कर दी। इसकी भनक लगते ही दारोगा कुमार ने वर्ष 2019 के जनवरी माह में पूर्णिया जाकर योगदान दे दिया। लेकिन, कोई लाभ नहीं हुआ। दरभंगा डीआइजी ने इस मामले को गंभीरता से लेकर उसे बर्खास्त कर दिया। दारोगा भागलपुर जिले के सुल्तानगंज थाने क्षेत्र के करहरिया गांव के निवासी हैं। इधर, मधुबनी जिले में तैनात हवलदार विध्याचल प्रसाद को शराब के नशे में एसपी के पास जाना और बदसलूकी करना महंगा पड़ गया। एसपी के अनुशंसा पर डीआइजी सिंह ने उसे बर्खास्त कर दिया। साथ ही समस्तीपुर जिले के खानपुर थाने में तैनात दारोगा अजीत कुमार को लापरवाही, विभागीय आदेश की अवहेलना करने और कार्य में शिथिलता बरतने के मामले में डीआइजी ने संज्ञान लेकर कार्रवाई कर दी है। उन्होंने कुमार के वेतन पर रोक लगाते हुए दो साल तक प्रोन्नति पर रोक लगा दी है। बताया जाता है कि उनके ऊपर शराब मामले में दिलचस्पी नहीं रखने का गंभीर आरोप था। इस कार्रवाई से पुलिस महकमा में हड़कंप मच गया है। डीआइजी ने बताया कि लापरवाही किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। स्पष्ट शब्दों में कहा कि पुलिस में नौकरी करना है तो काम करना होगा।

admin: