संजय झा के लिए दरभंगा लोस सीट नहीं छोड़ेगी BJP, इसबार गोपाल ठाकुड़ का चुनाव लड़ना लगभग तय…

नई दिल्ली । एनडीए के घटक दलों के नेताओं ने आपस में लोकसभा सीटों की संख्या का बंटवारा महीनों पहले कर लिया था. बहरहाल, एनडीए के एक जिम्मेदार नेता की बातों पर विश्वास करें तो कौन कैंडिडेट, किस लोकसभा सीट पर लड़ेगा इसका भी समाधान करीब-करीब हो गया है. उनका कहना है,‘लगभग 30 प्रतिशत संभावित उम्मीदवारों को प्रचार के लिए बीजेपी, जनतादल यूनाइटेड और एलजेपी शीर्ष नेतृत्व की तरफ से ग्रीन सिग्नल भी दिया जा चुका है. इन सभी ने अपने-अपने लोकसभा क्षेत्रों में जोर-शोर से चुनाव प्रचार करना शुरू कर दिया है.

इधर आरएसस से संबंधित सूत्रों के अनुसार संगठन का बिहार के मिथिला क्षेत्र पर पैनी नजर है। किसी भी कीमत पर आरएसएस और भाजपा कार्यकर्ता मिथिला क्षेत्र को अपने हाथों से जाने नहीं देना चाहते।

नाम ना छापने के शर्त पर आरएसएस के नेता ने बताया कि वर्ष 2014 में भी मिथिला क्षेत्र से कई भाजपा सांसद जीत कर सदन में पहुंचे। बीजेपी ने अपने लिए जिन सीटों को चिन्हित किया है उसमेँ मिथिला की केंद्र बिंदु वाला जिला दरभंगा सीट भी प्रमुख हैं। एक प्रश्न के जवाब में RSS के वरीय लीडर ने बताया कि दरभंगा लोक सभा सीट छोड़ने का तो कोई सवाल ही नहीं उठता है। पिछली बार भी यह सीट भाजपा के खाते में गई थी और इस बार भी जाएगी।

उम्मीदवार कौन होगा इस पर उन्होंने कहा कि यह हम अभी नहीं बता सकते, लेकिन आरएसएस के संगठन से आने वाले किसी एक मैथिल ब्राह्मण नेता को मौक़ा दिया जा सकता है।

दरभंगा में स्थानीय मैथिल ब्राह्मण कार्यकर्ताओं में इस मानक पर गोपाल जी ठाकुड़ के बराबर का कोई जमीनी चेहरा नहीं है भाजपा के पास, इसलिए यह मान के चला जा रहा है कि दरभंगा से गोपाल जी ठाकुर को बीजेपी से दरभंगा लोकसभा लड़ना करीब-करीब फाइनल कर दिया गया है.

दूसरी तरफ दरभंगा लोकसभा सीट पर जदयू नेता संजय झा पूरी जोर शोर से तैयारी करते हुए नजर आ रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट की माने तो नीतीश कुमार ने उन्हें आश्वस्त किया है कि दरभंगा से उन्हें उम्मीदवार बनाया जाएगा। हालांकि पिछली बार जदयू की टिकट पर उनकी जमानत जब्त हो गई थी और दरभंगा की जनता ने उन्हें नकार दिया था। दरभंगा के लोगों की माने तो भाजपा के अलावे यह सीट कोई नहीं जीत सकता। अगर गठबंधन के तहत यह सीट किसी अन्य दल की दी जाती है तो निश्चित रूप से एनडीए को मिथिला में तगड़ा झटका लगा सकता है।

admin: