दरभंगा : सरकारी स्कूलों से बिना सूचना के गायब हेडमास्टर और शिक्षकों से स्पष्टीकरण

दरभंगा/कुशेश्वरस्थान पूर्वी,संतोष पौद्दार । जिले के सुदूरवर्ती बाढ़ ग्रस्त इलाके व दरभंगा एवं सहरसा सीमावर्ती क्षेत्र के तिलकेश्वर पंचायत में बीडीओ अशोक कुमार जिज्ञासु ने शनिवार को चार विद्यालय,चार आँगनवाड़ी केन्द्र तथा जनवितरण प्रणाली की दुकानों का औचक निरीक्षण किया। बीडीओ श्री जिज्ञासु ने बताया कि मुख्यालय से लगभग 16 किलोमीटर दूर पर स्थित तिलकेश्वर पंचायत के बहबा टोल के प्राथमिक विद्यालय पर जाने के लिए मोटरसाइकिल एवं कई जगह नाव से नदी पार होकर जाना पड़ा। बीडीओ श्री जिज्ञासु ने बताया कि विद्यालय पर जाते ही ग्रामीणों ने शिक्षक के मनमानी लेकर शिकायत की बौछार लगा दिया। यहां तक कि ग्रामीणों ने कहा कि बहबा के एचएम विद्यालय कभी आते ही नही विद्यालय के छात्र को भी नही पता है कि एचएम कौन है। ग्रामीणों के शिकायत सुनकर बीडीओ भौचक रह गए साथ ही ग्रामीणों ने बताया कि कितने बार हमलोग बीईओ साहब से कहा है कि विद्यालय में शिक्षक मनमानी से विद्यालय आते है। ग्रामीणों का कहना था कि हमलोग गरीब की बच्चे कहा से निजी स्तर से पढ़ा पाएंगे सरकार की जितना बताया रही है वो तो कागजात तक ही रह जाती है। हमलोग के बच्चे की पढ़ाई नही हो पाती है। बीडीओ ने बताया कि जब विद्यालय पर पहुचे तो विद्यालय पूर्णतः बन्द था। विद्यालय के एचएम दिवाकर कुमार,शिक्षिका उमा देवी तथा शिक्षक रामध्यान कुमार विद्यालय पर नही थे और विद्यालय में तालाबन्दी पाया गया। वही प्राथमिक विद्यालय सेवका में एचएम सुमा देवी उपस्थित थे। बाकी दो शिक्षक में नीरज कुमार एवं प्रतिभा कुमारी बिना सूचना के ही विद्यालय से अनुपस्थित थे। साथ ही कुल नामांकित 200 छात्र में एक भी छात्र उपस्थित नही थे। उत्क्रमित मध्य विद्यालय गोलमा में 795 नामांकित छात्र में मात्र 49 छात्र-छात्रा उपस्थित थे। एचएम सरोज कुमार बिना सूचना के विद्यालय से अनुपस्थित पाए गए। इसी दौरान विद्यालय पर सैकड़ो ग्रामीणों ने बीडीओ को घेरकर एचएम सरोज कुमार सुमन के बारे में शिकायतों की कई बौछार लगा दी। साथ ही एचएम की विरुद्ध बीईओ से लेकर जिला स्तर तक लिखित आवेदन दे चुका हूं परंतु एचएम सरोज कुमार अपनी मनमानी से बाज नही आ रहे है। साथ ही उपस्थित रसोईया ने बीडीओ से कहा कि इस बीच लगातर 10 दिनों से विद्यालय में एमडीएम बन्द है। वही प्राथमिक विद्यालय अर्थुआ में कुल 339 नामिकत छात्र में 86 छात्र उपस्थित थे तथा सहायक शिक्षक भालचंद्र मिश्र बिना सूचना के ही अनुपस्थित थे। इस संबंध में बीडीओ ने कहा कि विद्यालय बन्द रहने तथा बिना सूचना के विद्यालय से अनुपस्थित रहने वाले शिक्षक व एचएम से स्पष्टीकरण मांगा गया है बीडीओ ने बताया कि अगर संतोषप्रद जबाब नही मिला तो संबंधित शिक्षक की वेतन रोकते हुए विभागीय करवाई के लिए लिखा जाएगा। बीडीओ ने बताया कि शिक्षा में लापरवाह शिक्षक को बख्शा नही जाएगा। विद्यालय को सही तरीके से गुणवत्ता पूर्ण चलाये बाढ़ ग्रस्त इलाके में शिक्षा को सुधारने के लिए एक टीम भी नियुक्ति करना पड़े तो किया जाएगा ताकि शिक्षा में सुधार हो और शिक्षक विद्यालय में अपना समय पहुचकर गुणवत्तापूर्ण बच्चों को शिक्षा दे ।

इसके अलावा आँगनवाड़ी केंद्र संख्या 92 बहबा के सेविका संजना तथा सहायिका जानकी देवी केंद्र पर नही थे और केंद्र बन्द पाया गया। आँगनवाड़ी केंद्र संख्या 85 सेवका-सेविका योगमाया देवी सहयका रामज्योति देवी जिसका केंद्र बन्द था साथ ही ग्रामीणों ने बीडीओ को बताया कि टीएचआर का भी वितरण नही किया गया है। आँगनवाड़ी केंद्र संख्या 88 के सेविका हीरा देवी तथा सहायिका एवं एक भी बच्चे केन्द्र पर उपस्थि नही थे। इसके अलावा आँगनवाड़ी केन्द्र संख्या 93 गोलमा के सेविका संजू देवी सहयका बबली देवी केंद्र पर उपस्थित थे और मात्र 5 बच्चे ही उपस्थित पाए गए। इसके साथ-साथ बीडीओ ने गोलमा के डीलर विजय राय, अर्थुआ के रामाकान्त राय,सेविका के आनंदी मुखिया के जनवितरण प्रणाली की दुकानों का जाँच किया जिसमे बीडीओ ने संबंधित डीलरों को स्टॉक पंजी के साथ संबंधित कागजातों को लेकर कार्यालय में जाँच कराने के लिए कहा।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *