अब दरभंगा और समस्तीपुर के 25 गांव बनेंगे स्मार्ट, नए टेक्नोलॉजी से कराएं जाएंगे कृषि कार्य

पटना,न्यूज ऑफ मिथिला डेस्क । दरभंगा और समस्तीपुर के 25 गांवों को स्मार्ट बनाया जाएगा। इन गांवों का चयन कर वहां पर बदलते मौसम के अनुसार खेती की जाएगी। गांवों को क्लाइमेटली स्मार्ट बनाया जाएगा। इसकी प्रक्रिया जल्द शुरू की जाएगी। समस्तीपुर जिले के पूसा स्थित कृषि विज्ञान केंद्र के कार्यक्रम समन्वयक डॉ. आरके तिवारी ने कहा है कि दरभंगा और समस्तीपुर के गांवों के चयन की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इनमें वैसे गांवों का चयन किया जाएगा जो दोनों जिलों के मुख्य मार्ग पर होगी।

इस गांव में नवीनतम वैज्ञानिक तकनीक से कृषि कार्य कराएंगे। साथ ही वहां सभी उपकरण भी उपलब्ध होंगे। उन्होंने कहा कि उन गांवों में अब जीरो टिलेज से धान एवं गेहूं की बुआई के साथ-साथ मटर, मूंग, सोयाबीन, तोरी सहित खरीफ फसल भी लगाए जा सकते हैं। इससे कम मात्रा में उर्वरक के उपयोग के बावजूद भी उत्पादन काफी अच्छा होगा। बीसा के वैज्ञानिक डॉ. पंकज कुमार ने कहा कि गेहूं की बुआई समय से करने पर अच्छे उत्पादन देते हैं।

धान की बुआई के संबंध में बताया कि चार क्षेत्रों में धान की बुआई से काफी सफलता किसानों को मिली है। जिले के विभिन्न प्रखंडों से आए किसानों ने सहगल के द्वारा गेहूं, धान, मटर इत्यादि की सीधी बुआई कराए जाने पर प्रसन्नता व्यक्त की। किसानों ने कहा कि सीधी बुआई में जोत में बचत के साथ साथ पानी एवं उर्वरक की भी काफी कमी होती है।

सीधी बुआई में किसानों के फसल कम गिरने की संभावना रहती है। छिड़काव विधि से बुआई करने के अनुपात में सीधी बुआई की उत्पादकता काफी अधिक होती है। जबकि सीधी बुआई के कारण खेतों में किसान आसानी से घूम कर हर एक पौधा की निगरानी भी करते हैं। जहां उन्हें समस्या दिखाई देती है उसके समाधान की दिशा में कार्य भी करते हैं।

admin: