गांधी मैदान से बोले राहुल- तेजस्वी के साथ फ्रंट फुट पर खेलकर, छक्का मारेगी कांग्रेस

राहुल बोले:  केवल झूठे वादे करते पीएम मोदी व सीएम नीतीश

रैली में तेजस्‍वी बोले: पीएम मोदी को झूठ की फैक्‍ट्री, आरएसएस उनका रिटेलर

बिहार में लंबे समय बाद अपने दम पर कांग्रेस की रैली

एक मंच पर दिखा विपक्ष

विविध रंग-रूप में दिखे समर्थक

पटना । कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को पटना के गांधी मैदान में जन आकांक्षा रैली को संबोधित किया। लंबे समय बार बिहार में कांग्रेस ने अपने बल पर बड़ी रैली की। इसके माध्‍यम से कांग्रेस के साथ विपक्षी महागठबंधन का शक्ति प्रदर्शन हुआ। रैली को लेकर गांधी मैदान में समर्थकों की भारी भीड़ उमड़ी। राहुल गांधी इस रैली में तेजस्‍वी यादव के साथ पहुंचे। रैली के मंच पर कांग्रेस शासित तीन राज्‍यों के मुख्‍यमंत्री भी थे।

रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री की ओर इशारा करते हुए कहा कि देश का चौकीदार चोर है। उन्‍होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार पर झेठे वोद करने का आरोप लगाया। साथ ही यह भी कहा कि अगर उनकी सरकार बनी तो वे पटना विश्‍वविद्यालय को केंद्रीय विवि का दर्जा देंगे। रैली में तेजस्‍वी यादव ने राहुल को पीएम मैटेरियल तथा नरेंद्र मोदी को झूठ की फैक्‍ट्री बताया।


रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की आलोचना की। कहा कि पीएम मोदी व सीएम नीतीश कुमार केवल झूठे वादे करते हैं।
राहुल ने कहा कि बजट में मोदी ने बिहार के किसानों को ठगा। आाधी रात को मोदी ने नोटबंदी की घोषणा कर देश को लाइन में खड़ा कर दिया। काला धन को सफेद करने का बहाना बना पांच सौ व हजार के नोट बंद कर देते हैं, लेकिन दो हजार के नोट चला देते हैं। लाइन में खड़ा कर जेब से पैसे निकाला। उधर, माल्‍या, मेहुल चौकसी जैसे लोगों की जेब में पैसे गए।
राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि हर आदमी के खाते में 15 लाख रुपये मिलेगें। मिल गए क्‍या? लेकिन हम हर गरीब व्‍यक्ति को न्‍यूनतम आय की गारंटी देगी। हर आदमी के खाते में पैसा डालकर दिखाएगी।
राहुल ने कहा कि छत्‍तीसगढ़, मध्‍यप्रदेश व राजस्‍थान में राजग की सरकारों ने किसानों का कर्ज माफ नहीं किया। हमने कर्ज माफ करने का वादा किया और सरकार में आते ही सारा कर्ज माफ कर दिया। नरेंद्र मोदी किसानों के कर्जतो माफ नहीं करते, लेकिन उद्योगपतियों के साढ़े तीन लाख करोड़ माफ करते हैं।

राहुल ने कहा कि पहली हरित क्रांति कांग्रेस के शासन काल में हुई थी। देश की दूसरी हरित क्रांति भी छत्‍तीसगढ़, मध्‍यप्रदेश व राजस्‍थान में कांग्रेस के काल में होगी। इसमें बिहार का नाम भी शामिल होगा। हमने छत्‍तीसगढ़, मध्‍यप्रदेश व राजस्‍थान की तरह पूरे देश का विकास करेंगे।
उन्‍होंने तंज कसते हुए कहा कि पहले नारा लगता था कि अच्‍छे दिन आएंगे, अब नारा लगता है कि चौकीदार चोर है। चौकीदार चोर है, यह पूरा देश जानता है।
राहुल ने बिहार में विकास व रोजगार तथा सत्‍ता में आने पर पटना विवि को केंद्रीय विवि का दर्जा देने का भी वादा किया। बिहार की शिक्षा व्‍यवस्‍था को भी चौपट बताया। साथ ही राहलु ने तेजस्‍वी को युवा व सच्‍चा नेता बताया।

रैली को संबोधित करते हुए राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बेटे तथा बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनके विशेष पैकेज की बाबत पूछा। उन्‍होंने केंद्र व राज्‍य की नीतीश सरकार से बिहार को विशेष राज्‍य का दर्जा देने को लेकर भी सवाल किए। कहा कि मोदी ने बिहार को ठगने का काम किया है, लेकिन बिहार के लोग उड़ती चिडि़या को हल्‍दी लगाने का काम भी जानते हैं। उन्‍होंने पीएम मोदी को झूठ की फैक्‍ट्री और आरएसएस उनका रिटेलर बताया।
तेजस्‍वी ने कहा कि नरेंद्र मोदी की सरकार विरोधियों के पीछे सीबीआइ लगाती है। उन्‍होंने कहा कि मोदी भले ही लालू प्रसाद यादव के पीछे सीबीआइ, आयकर व इडी को लगा दें( लेकिन लालू को लोगों को दिलों से नहीं निकाल पाएंगे।
तेजस्‍वी ने राहुल गांधी को पीएम मैटेरियल भी बताया। कहा कि उनमें प्रधानमंत्री बनने की योग्‍यता है। उन्‍होंने यह भी कहा कि कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी है, इसलिए कांग्रेस की जिम्‍मेदारी है कि वह सहयोगियों को साथ लेकर चले।
उन्‍होंने राहुल के प्रधानमंत्री बनने पर बिहार को उसका अधिकार दिलाने का आग्रह भी किया।

कांग्रेस ने करीब 30 साल बाद पटना के गांधी मैदान में अपने बल पर बड़ी रैली की। इससे पहले 1989 में गांधी मैदान में उनके पिता राजीव गांधी ने भी ने बतौर कांग्रेस अध्‍यक्ष रैली की थी।

कांग्रेस की जन आकांक्षा रैली में बिहार का विपक्ष एकजुट दिखा। रैली के मंच पर बिहार कांग्रेस प्रभारी शक्तिसिंह गोहिल व प्रदेश अध्‍यक्ष मदन मोहन झा व सभी प्रभारी अध्‍यक्ष थे। मंच पर रंजीता रंजन, तारिक अनवर, सदानंद सिंह, मीरा कुमार, शकील अहमद आदि पचुंच चुके हैं। पूर्व मुख्‍यमंत्री व हिंदुस्तान आवाम मोर्चा (हम) सुप्रीमो जीतनराम मांझी, लोकतांत्रिक जनता दल (लोजद) प्रमुख शरद यादव तथा विकासशील इंसान पार्टी (वीआइपी) प्रमुख मुकेश साहनी भी थे। पूर्व मंत्री व रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा बीते दिन पुलिस लाठीचार्ज में घायल होने के कारण नहीं आ पाए।
वाम दलों में भाकपा के सत्यनारायण सिंह, माकपा के अवधेश कुमार और भाकपा-माले के कुणाल ने भी रैली में शिरकत की। रैली में मोकामा के निर्दलीय विधायक अनंत सिंह भी समथकों के साथ मौजूद रहे, हालांकि उन्‍हें मंच पर जगह नहीं मिली।

राहुल की इस रैली में कांग्रेस ने पूरी ताकत झाेंक दी। रैली में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल तथा राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी शिरकत की।

रैली में शामिल प्रमुख कांग्रेस नेताओं में पूर्व लोकसभा अध्‍यक्ष मीरा कुमार भी शामिल रहीं।

रैली को लेकर प्रशासन ने एहतियाती उपाय किए। रविवार की सुबह छह बजे से रैली के समाप्‍त होने तक पटना के डाक बंगला चौराहा से गांधी मैदान तक सामान्‍य वाहनों का आवागमन बंद कर दिया गया। रामगुलाम चौक से जेपी गोलंबर तक भी वाहन परिचालन पर रोक लगी रही। पटना में वेटनरी कॉलेज से जीरो माइल तक बनाए गए 17 पार्किंग स्थलों पर 3300 से अधिक वाहनों की पार्किंग की व्यवस्था की गई।
रैली को लेकर पटना की सड़कों को बैनरों-पोस्टरों से पाट दिया गया दिखा। समर्थकों के विविध रूप देखने को मिले। कोई हाथी पर तो कोई राम-लक्ष्‍मण व हनुमान का रूप धर केंद्र सरकार पर तंज कसते बैनर-पोस्‍टर धारण किए दिखा।

admin: