बिहार में आंध्र की मछलियों से बैन हटा, जांच के लिया गया फैसला

पटना । बिहार में आंध्र की मछलियों की बिक्री पर लगा प्रतिबंध हटा लिया गया है. स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने इस मामले की जानकारी देते हुए बताया कि सभी तरह की मछलियों पर लगे प्रतिबंध को हटा लिया गया है. विदित हो कि बिहार सरकार ने फर्मलिन पाये जाने की खबर के बाद बाहर से आयात की जाने वाली मछलियों की बिक्री पर रोक लगा दी थी. बिहार में आंध्र प्रदेश की मछलियों पर बैन को लेकर आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री की चिट्ठी के बाद बिहार सरकार ने यह कदम उठाया है. बिहार की एक टीम मछलियों की जांच के लिए आंध्र प्रदेश पहुंची. यहां इस दल ने सीएम चंद्रबाबू नायडू से भी मुलाकात की. इस मामले की जांच को बिहार के अधिकारियों का पांच सदस्यीय दल अभी आंध्र प्रदेश में है. इस टीम में पशुपालन विभाग की प्रधान सचिव एन विजय लक्ष्मी, निदेशक फिशरीज निशात अहमद, जिला मत्स्य पालन पदाधिकारी विपिन कुमार, खाद्य सुरक्षा अधिकारी अजय कुमार शामिल हैं. आंध्र गयी टीम ने जांच के बाद बाहर से आयात की जाने वाली मछलियों पर लगे प्रतिबंध को हटाने का फैसला लिया है. गौरतलब हो कि बिहार में 14 जनवरी को मछलियों की बिक्री पर रोक लगा दी गयी थी. आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल से आने वाली मछलियों में जानलेवा केमिकल मिलने की शिकायत और जांच में हुई पुष्टि के बाद बिहार सरकार ने बड़ा फैसला लिया था. सरकार ने 15 दिन तक बिहार में आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल से आने वाली समते हर तरह की मछलियों को बैन कर दिया था. आंध्र की मछली बैन होने के बाद मछुआरों के व्यवसाय में भारी गिरावट आयी थी. इसको लेकर आंध्र के सीएम चंद्रबाबू नायडू ने बिहार सरकार को एक पत्र लिखा था. जिसमें उन्होंने आंध्र की मछलियों में फॉर्मेलिन नहीं होने की पुष्टि की थी. इसके लिए उन्होंने एक कमेटी द्वारा परीक्षण करवाने की बात भी कही थी.

admin: