पासवान और हजारी को ही दलित समझ रही सरकार, रजक की कर रहे उपेक्षा

दरभंगा। हराही पोखर के निकट बहुद्देशीय भवन में रजक प्रमंडलीय कार्यकर्ता सम्मेलन आयोजित किया गया। अध्यक्षता संघ के अध्यक्ष सुरेंद्र कुमार चौधरी ने की। वक्ताओं ने कहा कि सरकार सिर्फ पासवान और हजारी को ही दलित समझ रही है। असल में धोबी जाति ही असली दलित है। आजादी के बाद भी धोबी जाति का विकास सही ढंग से नहीं हुआ है। सरकार ने सदैव इस जाति की उपेक्षा की है। लोकसभा चुनाव में अगर धोबी जाति की उपेक्षा की गई तो हम लोग कपड़े की गंदगी की तरह सरकार को साफ कर देंगे। बोचहा मुजफ्फरपुर विधायक बेबी कुमारी ने कहा कि धोबी जाति के लोग संत गाडगे महाराज एवं डॉ. भीमराव अंबेडकर के उपदेशों एवं आदर्शों पर चलने वाली जाति है। संचालन करते हुए महामंत्री ज्वाला चौधरी ने सरकार से धोबी जाति को सरकार में भागीदार बनाने की मांग की। साथ ही अन्य दलित की भांति धोबी जाति को भी समान अधिकार की मांग की। सम्मेलन में दरभंगा, मधुबनी, समस्तीपुर जिले के रजक समुदाय के लोग शामिल हुए। मौके पर अनुसूचित जाति जनजाति कर्मचारी संघ के अध्यक्ष डॉ. हरेंद्र कुमार ने कहा कि वर्तमान परिस्थिति में हमें और भी संगठित होने की आवश्यकता है। हमें एकजुट होकर प्रतिकार करने वाले को ईंट का जवाब पत्थर से देने की आवश्यकता है। संघ के सचिव राजकुमार पासवान ने कहा कि आज हमारा समाज राजनीतिक रूप से हासिए पर खड़ा है। हमें इस बात को गंभीरता से लेना होगा और राजनीतिक क्षेत्र में भी अपनी सशक्त पहचान बनानी पड़ेगी। संचालन महामंत्री ज्वाला कुमार चौधरी ने किया।

सम्मेलन में प्रांतीय अध्यक्ष प्रह्लाद रजक, पूर्व महामंत्री रामविलास रजक, इनकम टैक्स कमिश्नर प्रह्लाद बैठा, समादेष्टा होमगार्ड दरभंगा गौतम कुमार, दिनेश साफी, बीईओ भगवान दयाल चौधरी, महिला अध्यक्ष दरभंगा रूपा चौधरी, युवा अध्यक्ष भरोसे बैठा, प्रदेश उपाध्यक्ष बीएल बैजंत्री, र¨वद्र रजक, इंद्रमोहन साफी, चंदन कुमार, अजीत चौधरी, सत्यनारायण चौधरी, गौतम कुमार, सानू सत्यप्रकाश साफी, संजीव साफी आदि मौजूद रहे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *