DMCH :; विवि ने मानी मेडिकल छात्रों की मांग, हड़ताल ख़त्म, उपचार आज से..

दरभंगा । आर्यभट्ट विवि ने आखिरकार डीएमसीएच 2014 बैच के छात्रों की मांग मान ली और छठे दिन शनिवार को उनका आंदोलन समाप्त हो गया। 15 जनवरी को तय परीक्षा अपरिहार्य कारणों से स्थगित कर दी गई है।

दरभंगा मेडिकल कॉलेज के छात्रों की परीक्षा का केंद्र लनामिविवि के स्नातकोत्तर वाणिज्य विभाग को बनाया गया है। एमबीबीएस की थर्ड प्रोफेशनल की परीक्षा 4 फरवरी से होगी। इस बाबत आर्यभट्ट विवि के परीक्षा नियंत्रक ने शनिवार की देर शाम अधिसूचना जारी की। यह सूचना मिलते ही छात्रों ने आंदोलन समाप्त करने की घोषणा की। छात्र डॉ. नरेश सुमन ने बताया कि सभी विभाग 13 जनवरी से खुल जाएगा। मरीजों का इलाज शुरू हो जाएगा। डॉ. आरआर प्रसाद ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि मरीजों का इलाज 13 जनवरी की स़ुबह से चालू हो जाएगा। जारी आदेश के मुताबिक, बर्धमान चिकित्सा महाविद्यालय की परीक्षा का केंद्र नालंदा मेडिकल कॉलेज बिहारशरीफ नालंदा को बनाया गया है। इसके पूर्व ठप उपचार व्यवस्था को चालू कराने को लेकर दिन में परिजनों और मरीजों ने इमरजेंसी वार्ड चौक को पांच घंटे तक जाम रखा। यातायात व्यवस्था चरमरा गई।

दूरदराज से आए सैकड़ों मरीजों और परिजनों ने शनिवार को भी उपचार व्यवस्था चालू होते नहीं देख इमरजेंसी वार्ड चौक को जाम कर दिया। डीएमसीएच प्रशासन के विरोध में नारे लगाए। छह नाका से कर्पूरी चौक तक आवागमन ठप रहा। छात्रों के आंदोलन से आपरेशन थिएटर, पैथोलॉजिकल और रेडियोलॉजिक जांच घर, ओपीडी, लेबर रूम, इमरजेंसी वार्ड समेत अन्य उपचार व्यवस्था ठप रही। भर्ती मरीजों की संख्या घटकर 361 हो गई है। हड़ताल के दूसरे दिन भर्ती मरीजों की संख्या 635 थी।

admin: