शराबबंदी वाले बिहार में दरभंगा का सर्किट हाउस बना नेताओं के दारूबाजी का अड्डा : MSU

दरभंगा,सोमू कर्ण । मिथिला स्टूडेंट्स यूनियन के सेनानियों ने मंगलवार को जिले के लहेरियासराय समाहरणालय स्थित धरना स्थल पर एकदिवसीय धरना दिया। इस अवसर पर नुक्कड़ नाटक कर कार्यकर्ताओं ने छात्र संघ चुनाव में धनबल-बाहुबल के उपयोग का विरोध जताया। इसके बाद शिष्टमंडल ने एसएसपी गरिमा मलिक से मिलकर ज्ञापन सौंपा जिसमें संगठन के कार्यकर्ताओं पर 17 मार्च की रात सर्किट हाउस में हमला के दोषी लोगों को गिरफ्तार करने व सर्किट हाउस के दुरूपयोग पर रोक लगाने की मांग की। इससे पूर्व धरना को संबोधित करते हुए संगठन के सागर नवदिया ने कहा कि राज्य का सत्ताधारी दल जदयू के वरीय प्रतिनिधि छात्र संघ चुनाव में खुलकर हस्तक्षेप कर रहे हैं जो उचित नहीं है। साथ ही, चुनाव में धनबल-बाहुबल का प्रयोग कर छात्रों के विचारों व उनके मत को खरीदने का प्रयास किया जा रहा है, जो छात्र राजनीति के लिहाज से निंदनीय है। उन्होंने कहा कि 17 दिसंबर की रात जदयू के कार्यकर्ताओं ने एमएसयू के निर्वाचित काउंसिल मेंबर जय प्रकाश को जबरदस्ती सर्किट हाउस लाया और उनको मानसिक रूप से प्रताड़ित कर संगठन के अन्य निर्वाचित काउंसिल मेंबरों के बारे में पूछताछ की। इस बात की जानकारी मिलते ही संगठन के कार्यकर्ता सर्किट हाउस पहुंचे और वहां से जयप्रकाश को लेकर निकलने का प्रयास किया। इस क्रम में उनके साथ मारपीट की गई। उन्होंने कहा कि उस समय सर्किट हाउस में जदयू के कई वरीय नेता मौजूद थे और वहां खुलेआम शराब का सेवन हो रहा था। संगठन के राष्ट्रीय संगठन मंत्री अविनाश भारद्वाज ने कहा कि जिस दल ने सूबे में शराबबंदी की, उसी के दल के नेता व कार्यकर्ता इसका खुलेआम उल्लंघन कर रहे हैं और सत्ता के दबाव में पुलिस-प्रशासन उन पर कार्रवाई करने से कतरा रहा है। जिलाध्यक्ष अमित ठाकुर ने कहा कि छात्रों के विचारों को खरीदने का प्रयास किया गया जो उचित नहीं है। धरना को उग्रनाथ मिश्रा, गोपाल चौधरी, दीपक झा, अमित मिश्रा, धीरज कुमार, सजग कुमार, अर्जुन सिंह सहित कई अन्य सेनानियों ने संबोधित किया।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *