उपमुख्यमंत्री ने किया मिथिला लोक उत्सव का उद्घाटन,अमरनाथ गामी ने उठाया धरोहर का मुद्दा।

दरभंगा,संवाददाता । मिथिला लोक उत्सव की शुरूआत करते हुए उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि मिथिला की संस्कृति महान है। जहां 700 साल पहले विद्यापति का जन्म हुआ था और यहां कई महान व्यक्तियों का जन्म हो चुका है। मिथिला की संस्कृति पूरे विश्व में यहां के लोगों ने बचा रखी है।

लहेरियासराय स्थित नेहरू स्टेडियम में मिथिला लोक उत्सव में संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मिथिला के विकास के लिए केंद्र और राज्य सरकार दोनों कटिबद्ध है। उन्होंने कहा कि दरभंगा में दूसरा एम्स जल्दी बन जाएगा। कुछ लोग भ्रम पैदा करना चाहते हैं। उन्होंने दरभंगा के सांसद का नाम लिए बिना कहा कि जिसे भाजपा ने राजनीति सिखाई आज वो लोगों को भ्रम पैदा कर रहे हैं। दरभंगा में एम्स भी रहेगा और डीएमसीएच भी रहेगी। उन्होंने कहा कि एम्स के लिए 200 एकड़ जमीन चिन्हित कर लिया गया है। इसके अलावा फरवरी में 180 करोड़ की लागत से सुपर स्पेशलिटी भवन बनकर तैयार हो जाएगी। जिसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। उन्होंने कहा कि मिथिला में खास तौर से दरभंगा में केंद्र व राज्य सरकार कई योजनाएं चला रही है, जो सरजमीं पर कुछ दिनों में दिखाई देने लगेगा। उन्होंने कहा कि 22 करोड़ की लागत से बीएससी नर्सिंग स्कूल और हॉस्टल का निर्माण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा भी डीएमसीएच को अपना पुराना गौरव लौटाने के लिए बिहार सरकार पूरी तरह संकल्पित है। उन्होंने कहा कि जल्दी दरभंगा से बेंगलुरु, मुंबई के लिए हवाई सेवा शुरू हो जाएगी। इसके अलावा उन्होंने कहा कि अगर रिस्पांस अच्छा रहा, तो रायपुर के लिए भी हवाई सेवा शुरू की जाएगी। उन्होंने कहा कि हवाई अड्डा के लिए 72 करोड़ की लागत से काम शुरू हो गया है। वहीं इस मौके पर बिहार सरकार के मंत्री विनोद नारायण झा ने कहा कि इंटरनेट की दौड़ में संस्कृति पर खतरा पैदा हो गया है। ऐसे में सरकार को अपने कला संस्कृति को बचाने के लिए इस तरह के कार्यक्रम किए जाने की जरूरत है।

विधायक संजय सरावगी ने उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी का पाग,चादर एवं मखाना की माला पहना कर स्वागत किया।

प्रश्न एवँ ध्यानाकर्षण समिति के सभापति सह हायाघाट के विधायक अमरनाथ गामी ने कहा कि दरभंगा राज किले को धरोहर घोषित की जाये, पर्यटन के रूप में दरभंगा को विकसित किया जा सकता है। जिले में पर्यटन उद्योग की अपार संभावनाएं हैं। उन्होंने कहा कि राजकिले को सरकार अधिग्रहण कर उसे पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करें। कुछ लोग क़िले को बर्बाद कर रहे हैं, जरूरत है उसे ठीक करने की। श्री गामी ने तीनों तालाबों को सौंदर्यीकरण किए जाने की भी माँग की। इस मौके पर जीवेश मिश्रा, अर्जुन साहनी, सुनील कुमार, गीता देवी,एसएसपी गरिमा मल्लिक आदि मौजूद थे। जिलाधिकारी डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने स्वागत भाषण और संचालन कमलाकांत झा ने किया।

admin: