गोली कांडों में शार्प शूटर मनोज सहित चार गिरफ्तार : एसएसपी

दरभंगा । विगत चार दिनों में जिले के विभिन्न थाना क्षेत्र में हुई। गोली कांड को लेकर पूरे जिले में सनसनी फैल गयी तथा लगातार बढ़ रहे अपराध को लेकर जिले के पुलिस की नींद अपराधियों ने उड़ा दी। परन्तु पुलिस ने चुनौती को स्वीकार करते हुए कांड के आरोपित अपराधियों को गिरफ्तार करने के लिए दिन-रात एड़ी चोटी एक कर दी। जिसमें कांड का अंजाम देने वाले अपराधियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल प्राप्त कर लिये। अशोक पेपर मिल थाना क्षेत्र अंतर्गत 24 अक्टूबर की देर शाम सदर थाना क्षेत्र के दिल्ली मोड़ स्थित बस स्टैण्ड के समीप ट्रिपल हत्याकांड के मुख्य आरोपी लालबिहारी यादव को एवं इनके सहयोगी अरूण कुमार यादव को गोली मारकर घायल करने वाले शार्प शूटर बहादुरपुर थाना क्षेत्र के ओझौल गांव निवासी जय चन्द्र ठाकुर के पुत्र मनोज कुमार ठाकुर को गिरफ्तार कर लिया गया। प्रेस सम्मेलन को संबोधित करते हुए दरभंगा के वरीय पुलिस कप्तान गरिमा मलिक ने बताया की शूटर मनोज ठाकुर ने अपना जुर्म कबूल कर लिया तथा इस कांड में जिले के बाहर के अन्य अपराधी भी शामिल है। जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापामारी कर रही है। वरीय पुलिस कप्तान श्रीमती मलिक ने बताया कि गिरफ्तार अपराधी पर जिले के बहादुरपुर थाना में विभिन्न अपराधिक मामले में कई कांड अंकित है। सूत्रों से ज्ञात हुआ है कि शार्प शूटर मनोज ठाकुर पूर्व में जदयू दरभंगा जिला के सचिव एवं वर्तमान समय में युवा जदयू का जिला उपाध्यक्ष के पद पर है। परन्तु इसकी गिरफ्तारी के बाद दरभंगा के जिले के कोई भी जदयू नेता अपनी पार्टी के नेता मानने से इंकार कर रहे है। वहीं बिरौल थाना क्षेत्र के हॉंसी में पचकौड़ी साह के पुत्र घटन साह को 23 अक्टूबर को बरामदे पर सोए हुए अवस्था में पारिवारिक दुश्मनी को लेकर उनकी कनपट्टी में सटा कर गोली मार कर जख्मी कर दिया था। जिसकी मौत ईलाज के क्रम में हो गयी थी और उसके पिता पचकौड़ी साह के द्वारा बिरौल थाना कांड संख्या 257/18 के तहत अज्ञात के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी। जो वैज्ञानिक अनुसंधान के बाद मृतक के छोटे भाई उपेन्द्र साह की संलिप्ता पायी गयी और उसे गिरफ्तार कर लिया गया। तीसरी घटना बहादुरपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत तारालाही से समस्तीपुर जाने वाली मुख्य सड़क के किनारे जमीन का बांउण्ड्री को लेकर 23 अक्टूबर को दोनों पक्षों के बीच मारपीट व फाईरिंग की घटना में विजय कुमार सिंह के पुत्र सुनिल कुमार सिंह की मौत घटना स्थल पर गोली लगने से हो गयी थी। जिसमें गरतु यादव के पुत्र प्रभाष यादव, विनय यादव के पुत्र लालबाबू यादव, स्व. राजगीर यादव के पुत्र राम विनेश यादव, उर्फ हकरू यादव को गिरफ्तार कर लिया गया। प्रेस सम्मेलन में सदर डीएसपी अनोज कुमार, सर्किल इंस्पेक्टर अजय कुमार झा, लहेरियासराय थानाध्यक्ष आर.के शर्मा, टेकनिकल सेल के सुनील कुमार सहित कई पुलिस कर्मी उपस्थित थे।

admin: