हंगामे की भेंट चढ़ा सत्र का अंतिम दिन,राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग

0

पटना,संवाददाता । बिहार विधानमंडल से शीतकालीन सत्र का आज आखिरी दिन है और आज भी सुबह से ही विपक्ष का हंगामा जारी है। विपक्षी पार्टियां बिहार में कानून व्यवस्था की बिगड़ती स्थिति, सीबीआई के दुरुपयोग और भ्रष्टाचार के मुद्दे को लेकर राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग कर रही हैं।

विधानसभा और विधानपरिषद में राजद, भाकपा माले और कांग्रेस के सदस्यों ने सुबह से ही गेट पर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। हंगामे के दौरान सदन की कार्यवाही अंतिम दिन भी बाधित होती रही और दोनों सदनों को दो बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।

हंगामा कर रहे विपक्षी सदस्य उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी से इस्तीफे की मांग कर रहे हैं। विधान परिषद नहीं चलने देने को लेकर कांग्रेस ने सरकार पर आरोप लगाया कि सरकार तमाम मुद्दों पर जवाब देने से भाग रही है। कांग्रेस नेता प्रेमचंद मिश्रा ने कहा कि प्रदेश में महिला कैदी के साथ बलात्कार हो जाता है और सरकार जवाब देने से भाग जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here