सुनील राय हत्याकांड के आरोपी: BJP युवामोर्चा के सहसंयोजक व नगर विधायक के क़रीबी विपिन राय ने किया सरेंडर।

0

दरभंगा । जिले के नगर थाना क्षेत्र के मिश्रटोला नाग मंदिर के पास सुनील राय की हत्या मामले में फरार आरोपी भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्च का सहसंयोजक बिपीन कुमार राय ने शुक्रवार की दोपहर बाद न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया।

ज्ञात हो कि 29 दिसंबर की देर शाम सुनील कुमार राय की गोली लगने से मौत हो गई थी। सुनील राय के परिजनों ने अनिल कुमार राय सहित 11 लोगों पर प्राथमिकी दर्ज करवाई थी जिसमें मुख्य रूप से विपिन कुमार राय को आरोपी बनाया गया था।

विपिन राय 29 दिसंबर के बाद से घर छोड़कर फरार हो गया था और फेसबुक पर लाइव होकर कहा था कि हत्या उसने नहीं की है बल्कि बिट्टू राय सहित अन्य लोगों ने मिलकर की है। वीडियो में उसने यह भी बताया था कि बिट्टू राय सहित अन्य लोग दैनिक अखबार के एक पत्रकार की हत्या करने वाले थे जिसकी सूचना पत्रकार को मोबाइल पर देने के लिए मोबाइल निकाला उसी वक्त बिट्टू राय ने गोली चला दिया था।

नगर थानाध्यक्ष सीताराम प्रसाद ने बताया कि उसे रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी कि आखिर हत्या किसने की एवं पत्रकार की हत्या क्यों करने की साजिश रची गई थी!

इस बीच विपक्षियों का आरोप है कि स्थानीय विधायक एवँ bjp के जिलाध्यक्ष का आरोपी के साथ नजदीकियां रही हैं।
विपक्षी दल के लोगों ने सोशल साइट्स के माध्यम से यह भी लिखा कि अपराधी सत्ता पोषित है और कुशासन राज को महाजंगल राज बताया.

नजरे आलम नामक एक व्यक्ति ने बेदारी कारवाँ के बैनर तले सोशल साइट्स पर विरोध दर्ज़ करते हुए आरोप लगाया है कि भू माफिया के रोल से खुद को बचाने के लिए हत्यारे को बचाने में लगे हैं नगर विधायक संजय सरावगी.

मामले में आरोपी विपीन राय के साथ bjp विधायक संजय सरावगी की तस्वीर वायरल होने के बाद news of mithila ने इस बाबत प्रतिक्रिया लेने हेतू विधायक श्री संजय सरावगी से बात की। विधायक संजय सरावगी ने आरोपी के साथ ख़ुद की तस्वीर वायरल होने के बाद सफाई दी है. संजय सरावगी ने स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि उन्हें इस बारे में जानकारी नहीं है. उन्होंने बताया कि कई मांगलिक एवँ शिलान्यास कार्यक्रमों में जब वो जाते हैं तो वहाँ हज़ारों लोग उनके साथ फोटो खिंचवाते हैं।
ग़ौरतलब है कि आरोपी विपिन राय जब युवा मोर्चा के किसी कार्यक्रम में जाते थे तो उस प्रेस विज्ञप्ति में भी विपिन राय का नाम भाजपा के नेताओँ के साथ जुड़ा रहता था. लेकिन आश्चर्य की बात है कि विधायक श्री सरावगी को दैनिक समाचार पत्रों में छपे खबरों में भी युवा मोर्चा के विपीन राय के नाम पर उनकी नज़र नहीं पड़ा..!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here