रक्सौल से विद्युत चालित ट्रेन परिचालन को समस्तीपुर मंडल ने मुख्यालय से मांगे इंजन

0

समस्तीपुर, संवाददाता । रक्सौल से विद्युत चालित ट्रेनों के परिचालन को लेकर समस्तीपुर मंडल ने मुख्यालय से एक दर्जन विद्युत इंजन मांगे हैं। इसी माह के अंत में वहां से लंबी दूरी की विद्युत इंजन से ट्रेनें व मालगाड़ियां शुरू कर दिए जाने की उम्मीद जताई जा रही है। हालांकि, रेलवे बोर्ड ने तिथि अभी तय नहीं की है। वैसे एक तरफ जहां ट्रायल के तौर पर रक्सौल से सुगौली तक प्रतिदिन दो मालगाड़ियां चलाई जाने लगी हैं। वहीं, विद्युत चालित इंजन चलाने वाले लोको पायलटों को समस्तीपुर में ट्रेनिंग भी दी जाने लगी है। करीब दो दर्जन लोको पायलट व सहायक लोको पायलट काे शिफ्ट के अनुसार ट्रेनिंग दी जा रही है। मंडल के अधिकारियों ने बताया कि रेलवे बोर्ड से तिथि निर्धारण होते ही इस रेलखंड से विद्युत चालित इंजन से ट्रेनों व मालगाड़ियों का परिचालन शुरू कर दिया जाएगा। गौरतलब है कि रक्सौल से विद्युत चालित इंजन से ट्रेनों का परिचालन शुरू होने से ट्रेनों की स्पीड बढ़ जाएगी। साथ ही रक्सौल से मुजफ्फरपुर होते हुए अन्य स्थानों के लिए जानेवाली ट्रेनों का इंजन भी नहीं बदलना पड़ेगा। इससे यात्रियों का समय बचेगा।

मार्च तक नरकटियागंज व जून 2019 से गोरखपुर तक परिचालन की उम्मीद : अधिकारियों ने बताया कि मार्च तक नरकटियागंज और जून से गोरखपुर तक विद्युत चालित इंजन से ट्रेनों का परिचालन शुरू हो जाने की उम्मीद है। मोतिहारी रेलखंड पर मुजफ्फरपुर से सीधे नरकटियागंज-गोरखपुर होकर दिल्ली समेत अन्य स्थानों पर जाने वाली ट्रेनें बिजली से चलने लगेंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here