मिथिलाचंल की संस्कृति का परिचायक बना मिथिला लोक महोत्सव। न्यूज़ ऑफ मिथिला

0

दिल्ली/ग्रेटर नोएडा : बिहार के मिथिलाचंल से संबंध रखने वाले ग्रेटर नोएडा वेस्ट में प्रवासी मैथिली भाषी लोगों द्वारा गौड़ सिटी स्थित राधा कृष्ण पार्क में शनिवार को मिथिला लोक महोत्सव 2019 का आयोजन हुआ।

कार्यक्रम का उद्देश्य मिथिला की संस्कृति, मैथिली भाषा व मिथिला के पकवानों को बढ़ावा देना था। इस दौरान सांस्कृतिक संध्या का भी आयोजन हुआ। भाजपा के वरिष्ठ नेता व राज्य सभा सदस्य प्रभात झा ने दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

इस दौरान संस्था के अध्यक्ष ललित कुमार झा ने कहा कि मैथिली भाषा के विकास के लिए संस्था अपने प्रगति पथ पर आगे बढ़ रही है। यह कभी रुकने वाली प्रक्रिया नहीं है। समय -समय पर ऐसे आयोजन किए जाते रहेंगे, ताकि मिथिला और मैथिल समाज को एकत्र किया जा सके। उन्होंने सभी सहयोगियों का हृदय से धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि संस्था का उद्देश्य सिर्फ और सिर्फ सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन नहीं बल्कि मिथिला व मैथिली की पौराणिक गरिमा को सकारात्मक दिशा प्रदान करना है।

कार्यक्रम में मौजूद मुख्य अतिथि प्रभात झा ने कहा कि मिथिला संस्कृति देश की प्राचीनतम संस्कृति है। माता सीता की गाथा समेटे रामायणकालीन यह संस्कृति मिथिला भाषा और मिथिला खान-पान व परंपराओं में जिदा है। इसे मजबूत करने की जरूरत है। देश में मौजूद हर एक छोटी-बड़ी प्राचीन संस्कृतियों को जिदा रखकर ही राष्ट्रीय की संस्कृति को मजबूत किया जा सकता है। माधव राय, जूली झा, विकास झा जैसे मिथिलांचल के मशहूर कलाकारों ने सांस्कृतिक संध्या पर अपनी प्रस्तुति देकर कार्यक्रम में चार चांद लगा दिए। सांस्कृतिक संध्या कि शुरुआत मिथिला की पारंपरिक गीत जय जय भैरवी से हुई।

कार्यक्रम के दौरान जेडीयू के दिल्ली प्रमुख दयानंद राय, पूर्व मंत्री महाबल मिश्रा, नोएडा के ज्वाइंट कमिश्नर कुमार आनंद, शेफालिका वर्मा व आईपीएस संजय झा साकेत चौधरी, सरोज मोहन झा, अजय झा ,आशीष झा, पंकज ठाकुर, राजीव झा ,मुकुंद झा, ब्रजनंदन सिंह, रुपेश झा, संतोष झा, कन्हैया झा, अमित झा, अनूप मिश्रा, संजय झा समेत संस्था के सभी पदाधिकारी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here