प्रधानमंत्री के “आत्मनिर्भर भारत अभियान” को सांसद गोपाल जी ठाकुर ने सराहा।

0

दरभंगा:  सांसद गोपाल जी ठाकुर ने केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एवं केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर द्वारा आत्मनिर्भर भारत अभियान के चौथे फेज की विस्तृत घोषणा का स्वागत किया।

श्री ठाकुर ने कहा कि फास्ट-ट्रैक निवेश के लिए सरकार नीतियों में सुधार लाएगी, निवेशकों और केंद्र व राज्य सरकारों के साथ समन्वय कर निवेश योग्य परियोजनाओं के लिए प्रत्येक मंत्रालय में परियोजना विकास सैल तैयार किया जाएगा।

सांसद ने कहा कि कोयला क्षेत्र के नीतिगत सुधार हेतु कमर्शियल माइनिंग, उदारवादी शासन के साथ साथ कोयला सेक्टर में इंफ्रास्ट्रक्चर बढ़ाने के लिए सरकार 50 हजार करोड़ का निवेश करेगी। उन्होंने कहा कि सिविल एविएशन के लिए कुशल हवाई क्षेत्र प्रबंधन तथा भारतीय एयर स्पेस के उपयोग पर लगे प्रतिबंध को आसान बनाया जाएगा ताकि नागरिक उड्डयन आसान हो सके, इससे विमानन क्षेत्र को प्रति वर्ष 1000 करोड़ रुपये का लाभ होगा। पीपीपी मॉडल पर तैयार होंगे विश्व स्तरीय एयरपोर्ट, इसके तहत 12 एयरपोर्ट से 13हजार करोड़ का निवेश आएगा। नागर विमानन क्षेत्र में विमान रखरखाव, मरम्मत इत्यादि के लिए भारत एक वैश्विक केंद्र बनने की ओर सरकार अग्रसर है।

श्री ठाकुर ने कहा कि खनिज क्षेत्र में निजी निवेश की बढोत्तरी, विकास और रोजगार को बढ़ाने के उद्देश्य से संरचनात्मक सुधारों पर जोर दिया जाएगा और रक्षा उत्पादन में मेक इन इंडिया पर अधिक बल दिया जाएगा तथा ऑटोमैटिक रुट के तहत रक्षा उत्पादन में FDI की सीमा 49 प्रतिशत से बढ़ाकर 74 प्रतिशत की गई।

श्री ठाकुर ने जोर देते हुए कहा कि जब हम आत्मनिर्भर भारत की बात करते है, तो स्पष्ट हो जाता है कि देश को और अधिक सशक्त बनाना है जिससे हमारा देश अपनी ताकत पर भरोसा करे और वैश्विक चुनौती का सामना करने के लिए तैयार रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here