जेएनयू में हुई मैथिली फिल्म प्रेमक बसात की स्क्रीनिंग।

0
48

दिल्ली । प्रेम और मानवता मजहब के दायरों से परे है और सारे मजहब भी तो प्रेम का ही संदेश देते हैं। यही संदेश है मैथिली में बनी नव फिल्म “प्रेमक बसात” का, जिसकी विशेष स्क्रीनिंग मंगलवार को जेएनयू के कला और सौंदर्यशास्त्र संस्थान के सभागार में रखी गई थी। इस अवसर पर फिल्म के निर्देशक रूपक शरर के अलावा नायिका की भूमिका निभा रही रैना बनर्जी भी मौजूद रहीं। आयोजन जेएनयू मिथिला मंच की ओर से किया गया।

यूं तो अभी मैथिली फिल्में कम ही बन रही है। निर्देशक रूपक शरर कहते हैं कि इस फिल्म से मैथिली सिनेमा के अच्छे दिन जरूर आएंगे । रूपक मैथिली में ऐसी फिल्म का निर्माण करना चाहते थे जिससे कि इस इंडस्ट्री में बाजार स्थापित होने का रास्ता खुले उन्होंने कहा कि अपनी भाषा और संस्कृति से मैथिली समाज के लोग काफी लगाव रखते हैं। लेकिन उनमें एकजुटता की कमी है उन्होंने अपनी फिल्म के माध्यम से प्यार भाईचारे व सांप्रदायिक सौहार्द का पैगाम देने की कोशिश की है और इसके लिए हिंदू मुस्लिम की प्रेम कहानी का ऐसा प्लॉट चुना है जो अधिकतर विवादों में ही रहा है।

फिल्म को दीपावली के मौके पर इसे बिहार और नेपाल में रिलीज किया गया। दर्शकों से काफी अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है। रूपक ने कहा कि जहां-जहां से दर्शकों की ओर से मांग होगी इसे वहां रिलीज करेंगे इस फिल्म की कथा- पटकथा दर्शकों को बेहद पसंद आएगी वहीं इसका गीत संगीत लोग अरसे तक गुनगुनाए जाएंगे पहली बार किसी मैथिली फिल्म में आदित्य नारायण और तोची रैना जैसे मशहूर बॉलीवुड सिंगर ने आवाज दी है।

बता दें कि पिछले कुछ महीनों से यूट्यूब और सोशल मीडिया पर इसके गीत वायरल हो रहे हैं। इस फिल्म के कलाकारों में नेपाल के इंटरनेशनल मॉडल पीयूष कर्ण और कोलकाता की रैना बनर्जी मुख्य भूमिका में है। गीतकार शेखर अस्तित्व, अयोध्या नाथ चौधरी और सारिका कुमार के गीतों को संगीत से सजाया है। मिथिला के बेहतरीन संगीतकारों की तिकड़ी सरोज सुमन, प्रवेश मल्लिक, एस कुमार ने रोमांटिक गानों के साथ सूफी कव्वाली निर्गुण व लोक धुनों पर आधारित गीत शामिल किए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here