गर्व:: बिहार की बहू स्वाति ने रचा इतिहास-इटली में फसे 263 भारतीयों को लेकर आई भारत। न्यूज़ ऑफ मिथिला

0

पटना, हाजीपुर । कोरोना वायरस से जहां एक ओर दुनिया डरी हुई है। ऐसे में इटली की राजधानी रोम में फंसे 263 भारतीयों को बचाने वाली टीम में शामिल होकर हाजीपुर की बहु स्वाति रावल ने न सिर्फ वैशाली और बिहार बल्कि देश को भी गौरवान्वित करने का काम किया है। बिहार के हाजीपुर के दिग्घी पश्चिमी के रहने वाले स्व. वशिष्ठ नारायण सिंह की बहु और अजीत कुमार की पत्नी स्वाति रावल वर्तमान में एयर इंडिया में कमांडर के पद पर कार्यरत हैं। उन्होंने वर्ष 2004 में एयर इंडिया ज्वाइन किया था। बचाव दल में शामिल कैप्टन स्वाति की खासी तारीफ की जा रही है।

स्वाति रावल को 5 साल का बेटा

चाणाक्य भारद्वाज और बेटी डेढ़ वर्ष की नंदनी भारद्वाज है। स्वाति भी उस टीम की सदस्य थीं, जो इटली की राजधानी रोम में फंसे 263 भारतीयों को बचाने के लिए गई हुई थीं। इस संबंध में स्वाती के पति अजीत भारद्वाज ने एक अखबार के साथ फोन पर हुई बातचीत के दौरान बताया कि शनिवार को इटली के लिए उन्हें रवाना होना है। इसके संबंध में शुक्रवार को कॉल आया। बताया गया कि आपका नाम एअरइंडिया के सीएमडी की तरफ से आया है। अत: आपको इटली जाना है। इस पर स्वाती और मैंने हां कर दिया। यह जानते हुए कि लौटने के बाद एक या फिर दो हफ्ते के लिए आइसोलेशन वार्ड में रहना पड़ेगा। चूंकि देश के लिए गौरवान्वित करने वाला यह क्षण था, इसलिए इस मिशन पर जाने की हमने हामी भरी। रोम एयरपोर्ट पर एयर इंडिया के विमान को दो पायलट लेकर गए थे, लेकिन उधर से 263 भारतीयों को रोम एयरपोर्ट से लाने जिम्मेदारी स्वाती रावल ने निभाई। बचपन से ही मेधावी स्वाति ने वर्ष 2002 में इंदिरा गांधी उड्डयन अकादमी की ओर से आयोजित लिखित परीक्षाओं में टॉप किया था।

30 नवंबर 2013 को हुई थी स्वाती से शादी

गुजरात के भावनगर की मूल निवासी स्वाती से विवाह कैसे हुआ इस संबंध में हाजीपुर के दिग्घी पश्चिमी के रहने वाले अजीत कुमार ने बताया कि दिल्ली में नौकरी के दौरान ही उनसे मुलाकात अप्रैल 2013 में हुई। इसी दौरान प्यार हुआ और परिवार की रजामंदी से हमदोनों विवाह के बंधन में बंध गए। उन्होंने बताया कि दिल्ली में ही हमारा एस्कपोर्ट-इम्पोर्ट का बिजनेस है। ग्रेटर कैलाश में मैंने अपना ऑफिस बनाकर रखा है। हाजीपुर हमारा अक्सर आना-जाना होता है। हर त्योहार के मौके पर मैं अपने घर हाजीपुर निश्चित तौर पर जाता हूं।

हाजीपुर के लोगों में खुशी की लहर

हाजीपुर में अजीत कुमार और स्वाती रावल को जानने वालों जब यह पता चला कि उन्होंने देश के लिए इतना बड़ा काम किया है, जिसकी देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर नागरिक उड्डयन मंत्री तारीफ कर रहे हैं तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। स्वाती के इस साहसपूर्ण कार्य के लिए कर्नल ए कुमार, डॉ प्रियेंदु सुमन, सुमित कुमार, दीपक जायसवाल, जय प्रकाश आदि लोगों खुशी जताई है और बधाई दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here