खरना करने से तन और मन होता है शुद्ध : सांसद

0

दरभंगा। खरना के मौके पर सांसद गोपाल जी ठाकुर ने सभी देशवासियों को छठ महापर्व का बधाई एवं शुभकामना दी। उन्होंने कहा कि छठ के तीन दिवसीय महापर्व में खरना का विशेष महत्व है। मान्यता है कि खरना के दिन व्रती व्यक्ति रात के समय प्रसाद ग्रहण करता है और इसके बाद सीधा छठ पर्व पूर्ण होने के बाद ही अन्न-जल ग्रहण करता है। उन्होंने कहा कि खरना का मतलब होता है शुद्धिकरण। सिर्फ तन का ही नहीं, बल्कि इससे मन का भी शुद्धिकरण होता है। इसलिए खरना के दिन केवल रात के समय भोजन करके व्रती अपने तन और मन को शुद्ध करता है। उन्होंने कहा कि छठ महापर्व बहुत कठिन माना जाता है और इसे बहुत सावधानी से किया जाता है। कहा जाता है कि जो भी व्रती छठ के नियमों का पालन करते हैं उसकी सारी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। छठ पर्व के दौरान नियमों का पालन करना जरूरी होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here