अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म फेस्टिवल का हुआ समापन,MLA संजय ने कहा-विश्व पटल पर आया दरभंगा का नाम,विदेशों से आए हैं लोग

0

दरभंगा । अंतरराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल दिखाई गईं कुल 43 फिल्मों में से वेस्ट फिल्म का अवार्ड रुस के डायरेक्टर पोल मालेके की फिल्म सैफलन हर्ट को मिला। इस फिल्म को तीन पुरस्कार मिला। प्रथम बेस्ट फिल्म, दूसरा बेस्ट स्टोरी व तीसरा वेस्ट फिल्म एडिटर के लिए दिया गया। इस फिल्म की शूटिंग बोधगया में की गई थी। यह तिब्बती भाषा पर आधारित है। पूरे डेढ़ घंटे की फिल्म है। इस फिल्म के डायरेक्टर पोल माले के माध्यम से यह दिखाने की कोशिश की गई कि भगवान ने जो हमें जीवन दिया है। वह अनमोल है। उसे खुशी से जीएं। लहेरियासराय स्थित रजनीश सीने पैलेस सिनेमा घर में अंतिम 6वें दरभंगा अंतरराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल में डायरेक्टर पोल मालेके की फिल्म सैफलन हर्ट दिखाई गई। डायरेक्टर मनोज एर्मिचीगन की फिल्म तृतीय अध्याय जो बंगाली भाषा की फिल्म काे दिखाई गई।
वहीं तीसरी महाराष्ट्र के पुणे में बनी डायरेक्टर अमृत राज की स्टॉट फिल्म परिचय और डायरेक्टर बोधानंद झा की फिल्म नवाह एक अटूट विश्वास का महोत्सव दिखाई गई। इस फिल्मों को दर्शकों ने काफी सराहा। इस फिल्म फेस्टिवल में 12 फीचर फिल्म, 25 स्टॉट फिल्म व 6 डक्यूमेंट्री फिल्मों को तीन दिनों तक दिखाया गया।


फिल्म फेस्टिवल के समापन के अवसर पर रविवार को नगर विधायक संजय सरावगी ने कहा कि इस तरह के आयोजन से दरभंगा का नाम अंतरराष्ट्रीय पटल पर आ रहा है। तभी रूस के डायरेक्टर यहां आए हैं। मिथिला के कलाकारों को अगर सहयोग मिले तो, जरूर यहां के कलाकर देश-दुनिया में अपना नाम रौशन करेंगे। पूर्व विधायक डॉ. इजहार अहमद ने कलाकारों से कहा कि मेहनत और लगन से किसी भी मुकाम को हासिल किया जा सकता है। मौके पर फिल्म फेस्टिवल के डायरेक्टर मेराज सिद्दीकी,राम बाबू प्रसाद, श्वेता मोना वर्मा सहित दर्जनों लोग मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here